श्रीनगर: सेना प्रमुख जनरल एम एम नरवणे (Army Chief General MM Naravane) दो दिवसीय दौरे पर गुरुवार को श्रीनगर पहुंचे और उत्तरी कश्मीर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) के पास की स्थिति का जायजा लिया और सैनिकों के साथ संवाद के दौरान सेना प्रमुख ने उनके मजबूत मनोबल की सराहना की रक्षा प्रवक्ता ने इस बारे में जानकारी दी. Also Read - LAC पर तनातनी के बीच भारतीय सेना ने चीन को उसका सैनिक लौटाया, लद्दाख बॉर्डर के पास पकड़ा गया था

एक बयान में 15 वीं कोर के प्रवक्ता कर्नल राजेश कालिया ने बताया कि ऊंचाई वाले क्षेत्रों में तैनात सैनिकों के साथ संवाद के दौरान सेना प्रमुख ने उनके मजबूत मनोबल की सराहना की और पाकिस्तान की तरफ से संघर्ष विराम उल्लंघन की घटनाओं पर उनकी कार्रवाई की तारीफ की. Also Read - Hyderabad Rain Updates: हैदराबाद में बारिश से हालात खराब, स्टैंडबाय पर रखी गईं सेना की राहत टीमें

आर्मी चीफ ने ने प्रौद्योगिकी के इस्तेमाल से एलओसी के पास दिन-रात प्रभावी निगरानी सुनिश्चित करने के कदमों की भी सराहना की. इससे हालिया समय में घुसपैठ के कई प्रयासों को नाकाम करने में मदद मिली है. जनरल नरवणे ने सीमाई क्षेत्र में रहने वाले नागरिकों की भी हरसंभव मदद करने को कहा. Also Read - पाकिस्तान ने आंतकियों को दी खुली छूट, हाफिज सईद से कहा- कश्मीर में भेजो दहशतगर्द

प्रवक्ता ने बताया कि बाद में उन्होंने भीतरी क्षेत्र में तैनात कमांडरों और सैनिकों के साथ बातचीत की. जवानों के साथ बातचीत करते हुए जनरल ने उल्लेख किया कि कश्मीर में विकास, शांति और समृद्धि के नए दौर की शुरुआत हुई है और उच्च मनोबल बनाए रखने तथा जम्मू कश्मीर में शांति बहाली में उनके योगदान की सराहना की.

आर्मी चीफ ने घाटी में शांति बनाए रखने के लिए सभी सरकारी एजेंसियों के बीच उच्च स्तर के तालमेल तथा कोविड-19 महामारी के कारण मुश्किलें झेल रहे लोगों की मदद के लिए उनकी प्रशंसा की. बयान के मुताबिक, बाद में उन्होंने उत्तरी सैन्य कमांडर और चिनार कोर कमांडर के साथ समग्र सुरक्षा स्थिति की समीक्षा की. जनरल नरवणे के शुक्रवार को नई दिल्ली लौटने का कार्यक्रम है.