श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर में रमजान का महीना खत्म होने के बाद एक बार फिर से सेना का ऑपरेशन ऑलआउट शुरू हो गया है. सेना आतंकियों का सफाया करने के लिए कमर कस चुकी है. इसी कड़ी में आज घाटी के बांदीपोरा इलाके में सेना की आतंकियों से मुठभेड़ हुई जिसमें अबतक 4 आतंकी मारे जा चुके हैं. सेना और आतंकियों के बीच ये मुठभेड़ पनार के घने जंगलों में हो रही है जिसमें एयर फोर्स की टीम भी सेना की मदद कर रही है.Also Read - आर्मी ने चीन की हरकत पर नजर रखने LAC पर इजराइली ड्रोन Heron Mark-I UAV से बढ़ाई निगरानी

Also Read - जम्मू-कश्मीर पुलिस ने जारी किया इमरजेंसी अलर्ट, 'गैर स्थानीय मजदूरों को तत्काल नजदीकी सुरक्षा शिविरों में शिफ्ट करें'

सीजफायर हुआ खत्म
रविवार को ही केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने घाटी में सेना द्वारा सीजफायर खत्म करने की घोषणा की थी. राजनाथ ने कहा था कि घाटी में सेना ने रमजान के महीने में सीजफायर इसलिए लागू किया था ताकि घाटी के आम लोग शांति से इस पवित्र महीने में इबादत कर सकें लेकिन आतंकियों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा और उन्होंने इस मौके का नाजायज फायदा उठाते हुए आतंकी हमले किए. Also Read - Jammu and Kashmir: आतंकवादियों ने कश्मीर में फिर बिहार के तीन लोगों को मारी गोली, दो की मौत एक की हालत गंभीर

राजनाथ सिंह ने कहा, ”सिक्योरिटी फोर्स को कहा गया है कि वो आतंकी घटनाएं रोकने के लिए जो भी जरूरी हो करें चाहे इसके लिए पहले की तरह ऑपरेशन ही क्यों न चलाना पड़े. सरकार घाटी में आतंक मुक्त और शांतियुक्त वातावरण स्थापित करने के लिए काम करती रहेगी.”

रमजान में भी आतंक
रमजान के महीने के दौरान सेना ने घाटी में रहने वाले आम लोगों की सुविधा का ध्यान रखते हुए आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन रोक दिया था ताकि खून खराबा ना हो लेकिन आतंकियों पर इसका कोई असर नहीं पड़ा. आतंकियों ने ईद से एक दिन पहले राइजिंग कश्मीर के संपादक और जाने माने पत्रकार शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या कर दी, बुखारी के साथ उनके दो सुरक्षाकर्मी भी इस हमले में मारे गए.

इसके अलावा आतंकियों ने ईद की छुट्टी पर घर आ रहे सेना के जवान औरंगजेब को भी अगवा कर उसकी हत्या कर दी. इन घटनाओं के बाद आतंकियों के खिलाफ लोगों में भारी गुस्सा था.