नई दिल्ली. दहेज उत्पीड़न की घटनाएं छोटे शहरों, गांवों या कम पढ़े-लिखे व्यक्तियों के परिवारों में ही नहीं होती, बल्कि महानगरों और शिक्षित वर्ग में इस कुप्रथा का अंत नहीं हो रहा है. ताजा मामला देश की राजधानी दिल्ली का है, जहां सेना के एक अधिकारी के खिलाफ घरेलू हिंसा और दहेज के आरोपों के तहत केस दर्ज किया गया है. सेना के एक मेजर को अपनी पत्नी के साथ कथित तौर पर घरेलू हिंसा करने और दहेज मांगने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने गुरुवार को बताया कि पालम गांव पुलिस थाने में इस संबंध में मामला दर्ज किया गया है. अपनी शिकायत में मेजर की पत्नी ने आरोप लगाया है कि वह उसे छोटी-छोटी बातों के लिए परेशान किया करता था. Also Read - भयावह: शख्स ने पूरे परिवार को कमरे में बंद कर जिंदा जलाया, खुद भी फांसी पर झूला

शिकायतकर्ता के मुताबिक जब वह अपने पति के व्यवहार के बारे में उससे पूछती तो वह कहता कि उसे दूसरों से शादी के प्रस्ताव मिल रहे हैं जो एक करोड़ रुपए से ज्यादा दहेज देने के लिए तैयार हैं. पुलिस उपायुक्त (दक्षिण पश्चिम) देवेंद्र आर्य ने कहा, ‘मामला दर्ज कर लिया गया है और इसकी जांच की जा रही है.’ बता दें कि दहेज प्रताड़ना से संबंधित मामलों में सुप्रीम कोर्ट ने पिछले साल दिशा-निर्देश दिए थे कि दहेज संबंधी उत्पीड़न की किसी भी शिकायत की पहले पड़ताल की जाएगी. किसी भी शिकायत के बाद तुरंत गिरफ्तारी नहीं हो सकेगी. मामले की गहन जांच-पड़ताल के बाद ही आरोपी व्यक्ति की गिरफ्तारी की जाएगी. कोर्ट ने दहेज संबंधी कानून की धारा 498ए के दुरुपयोग को लेकर यह दिशा-निर्देश जारी किए थे. Also Read - दहेज़ में स्कूटर नहीं मिला तो पति ने पत्नी की Nude Pics की वायरल, स्क्रीनशॉट भेजकर कहा- देखो तो...

(इनपुट – एजेंसी) Also Read - महिला उत्पीड़न पर बॉम्बे हाईकोर्ट की बड़ी बात- अत्याचार पर प्रतिक्रिया का कोई तय फॉर्मूला नहीं हो सकता