नई दिल्ली: जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में शहीद हुए मेजर केतन शर्मा का पार्थिव शरीर को उनके गृहनगर मेरठ लाया गया है. मेजर केतन शर्मा एक दिन पहले ही जम्मू-कश्मीर के अनंतनाग में आतंकियों से हुई मुठभेड़ में शहीद हो गए थे. मुठभेड़ में एक आतंकी भी मारा गया था. मेजर की शहादत के अलावा इसी रैंक के दो अधिकारी व दो जवान घायल हुए थे. ये मुठभेड़ अनंतनाग के अचबल इलाके में हुई थी.

शहादत के बाद आज जम्मू-कश्मीर से शहीद मेजर केतन शर्मा का पार्थिव शरीर दिल्ली लाया गया. यहां रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मेजर को श्रद्धांजलि अर्पित की. इस दौरान आर्मी चीफ बिपिन रावत भी मौजूद रहे.

इसके बाद दिल्ली से मेजर का पार्थिव शरीर मेरठ ले जाया गया. मेजर का घर मेरठ के कंकरखेरा में है. यहां मेजर के पार्थिव शरीर के आने के बाद से परिजनों का बुरा हाल है.

मेजर की मां का बुरा हाल है. वह अपने बेटे के पार्थिव शरीर से लिपट गईं. उन्होंने रोते हुए कहा कि मुझे बता दो कि मेरा शेर बेटा कहां गया? परिजनों का करुण क्रंदन जिसने भी देखा वह अपनी आंखों से आंसू नहीं रोक सका. सैन्य अधिकारी परिवार को ढांढस बंधा रहे हैं.