नई दिल्लीः अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) में भर्ती पूर्व वित्त मंत्री अरुण जेटली की हालत शुक्रवार को बिगड़ गई. अस्पताल के सूत्रों ने यह जानकारी दी. पूर्व केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने अस्पताल जाकर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली. भाजपा के वरिष्ठ नेता एल के आडवाणी, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत, उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनंदीबेन पटेल, बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल और भाजपा सांसद मेनका गांधी ने सोमवार को अस्पताल जाकर जेटली का हालचाल जाना था.

जेटली (66) को सांस लेने में दिक्कत और बेचैनी की शिकायत के बाद नौ अगस्त को एम्स लाया गया था. एम्स ने 10 अगस्त के बाद से जेटली के स्वास्थ्य पर कोई बुलेटिन जारी नहीं किया है. जेटली ने खराब स्वास्थ्य के चलते 2019 का लोकसभा चुनाव नहीं लड़ा था. एम्स में भर्ती किए जाने के बाद से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, पीएम नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह सहित सरकार के सभी मंत्री जेटली के स्वास्थ्य का हालचाल जानने एम्स जा चुके हैं. पिछले रिपोर्ट में कहा गया था कि जेटली को लाइफ सपोर्ट सिस्मट पर रखा गया है. इस सिस्टम के बगैर उनके अहम अंग काम नहीं कर रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने कहा था कि एम्स के डॉक्टर हर संभव कोशिश कर रहे हैं.

(इनपुट भाषा)