नई दिल्ली: अरुणाचल प्रदेश में उग्रवादी हमला हुआ है. उग्रवादियों द्वारा किए गए हमले में नेशनल पीपल्स पार्टी के विधायक तिरोंग अबोह की मौत की खबर है. सिर्फ विधायक ही नहीं, बल्कि विधायक के परिवार सहित अन्य लोग भी हमले का शिकार हुए हैं. हमले में करीब 10 लोगों की जान गई है. बताया जा रहा है कि विधायक व अन्य लोगों पर उग्रवादियों ने गोलियों से हमला कर जान ली है. दो सुरक्षाकर्मियों की भी जान गई है. Also Read - Chinese village in Arunachal! चीन ने तीन महीनों के अंदर अरुणाचल प्रदेश में बसा दिया गांव? भारत ने दिया ये जवाब

घटना अरुणाचल प्रदेश के तिरप जिले के बोगापानी इलाके की है. नेशनल पीपल्स पार्टी के विधायक तिरोंग अबोह का काफिला यहां से गुजर रहा था, इसी दौरान ये हमला हुआ है. हमलावरों ने विधायक की कार को भी आग लगा दी. तिरोंग अबोह हाल ही में हुए विधानसभा चुनाव में इस बार भी पार्टी के प्रत्याशी थे. जिले की खोंसा पश्चिम विधानसभा सीट से मौजूदा विधायक तिरोंग अबो, इस सीट से दोबारा निर्वाचित होने का प्रयास कर रहे थे. तिरप उपायुक्त पीएम थुंगन ने बताया कि अबो असम से अपने विधानसभा क्षेत्र में वापस लौट रहे थे और उस समय उनके साथ चार अन्य लोग और दो पुलिस कर्मी भी थे. जब उनका वाहन जिले के बोगापानी गांव के निकट पहुंचा तो संदिग्ध उग्रवादियों ने उन पर गोलियां चला दीं, जिसमें सभी सात लोगों की मौके पर ही मौत हो गई. Also Read - CDS जनरल रावत ने अरुणाचल प्रदेश में चीन से सटे सैन्य अड्डों का दौरा किया, भारतीय सैनिकों को लेकर कही ये बात

घटना की निंदा करते हुये एनपीपी अध्यक्ष और मेघालय के मुख्यमंत्री कोनराड पी संगमा ने इस मामले में प्रधानमंत्री कार्यालय और केंद्रीय गृह मंत्री राजनाथ सिंह के हस्तक्षेप की मांग की है. उन्होंने ट्वीट करके कहा कि एनपीपी इस घटना में अपने विधायक श्री तिरोंग अबो (अरूणाचल प्रदेश) और उनके परिजनों की मौत से स्तब्ध और दुखी है और वे इस दुर्दांत हमले की निंदा करते हैं और पीएमओ एवं राजनाथ सिंह से हमले की इस घटना के जिम्मेदार लोगों पर कार्रवाई करने की मांग करते हैं. राज्य में विधानसभा के चुनाव लोकसभा के साथ संपन्न कराये गए थे.