ईटानगर: अरुणाचल प्रदेश का सुदूरवर्ती हिस्सा विजयनगर जिसे प्रकृति ने भरपूर सौन्दर्य से नवाजा है. इस खूबसूरत इलाके की सीमा तीन तरफ से म्यामां से लगी हुई है जबकि इसका चौथा हिस्सा नामदफा नेशनल पार्क से लगा हुआ है लेकिन यहां पहुंचना सुगम नहीं है. ‘अरुणाचल राइजिंग कैंपेन’ में हिस्सा लेने विजयनगर पहुंचे राज्य के मुख्यमंत्री पेमा खांडू ने अब इस क्षेत्र में पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए अपनी प्राथमिकता पर लिया है. Also Read - पेमा खांडू बने अरुणाचल प्रदेश के 10वें मुख्यमंत्री, राज्यपाल ने दिलाई शपथ

Also Read - इस पहाड़ी राज्य में बना देश का सबसे लंबा सिंगल-लेन स्टील केबल सस्पेंशन पुल

बंगाल में बीजेपी की रथयात्रा, कैलाश विजयवर्गीय ने कहा- जरूरत पड़ी तो सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाएंगे Also Read - 'तेनाली रामा' का रामा क्या राज्य छोड़ देगा? सोचने वाली बात है

उच्च प्राथमिकता पर विकास

उन्होंने कहा चांगलाग जिले के सुदूर विजयनगर क्षेत्र में पर्यटन की व्यापक संभावनाएं हैं. सीएम खांडू शुक्रवार को ‘अरुणाचल राइजिंग कैंपेन’ में हिस्सा लेने विजयनगर पहुंचे थे. विजयनगर तीन ओर से म्यामां सीमा से सटा है जबकि अन्य हिस्सा नमदाफा राष्ट्रीय उद्यान के घने जंगलों से लगा है. सीएम ने विजयनगर से जिला मुख्यालय मियाओ के बीच के सड़क परिवहन मार्ग को उच्च प्राथमिकता पर विकसित करने का निर्णय लिया है साथ ही इस खूबसूरत इलाके को वायु मार्ग से जोड़ने की संभावनाओं पर विचार करने को भी कहा है.

विजयनगर में शुक्रवार को एक कार्यक्रम में खांडू ने कहा कि विजयनगर के सौंदर्य, बागवानी और कृषि गतिविधियों के अवसरों के चलते यहां पर्यटन की व्यापक संभावनाएं हैं. मुख्यमंत्री ने कहा, “उचित भूमि और संचार की कमी की वजह से इन संभावनाओं में रुकावट पैदा हुई है.” मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी विज्ञप्ति के मुताबिक मुख्यमंत्री ने कहा कि मियाओ- विजयनगर के बीच 156 किलोमीटर की सड़क को आगामी दिनों में प्राथमिकता पर रखा जाएगा.

विजयनगर के लिए हवाई संपर्क पर खांडू ने कहा कि वह केंद्र सरकार से इसके लिए अत्याधुनिक सुविधाओँ से लैस भूमि के निर्माण का काम तेज करने के लिए कहेंगे और इसे मुख्यमंत्री संपर्क योजना के तहत ऐसी ही छह भूमियों से जोड़ा जाएगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने योबिन समुदाय को अनुसूचित जनजाति का दर्जा देने को मंजूरी दे दी है और अनुसूचित जनजाति प्रमाणपत्र जारी किए जा रहे हैं. (इनपुट एजेंसी)

‘केदारनाथ’ पर बोले पर्यटन मंत्री, आस्था केंद्रों के आसपास ना फिल्माएं आपत्तिजनक दृश्य