नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली पुलिस कानून-व्यवस्था बनाए रखने में सक्षम है लेकिन इसे “मूकदर्शक बने रहने और कार्रवाई न करने के” ऊपर से आदेश मिलते हैं. केजरीवाल का इशारा जेएनयू और जामिया मिल्लिया विश्वविद्यालय में हाल में हुई हिंसा में पुलिस की भूमिका की तरफ था. आम आदमी पार्टी के सातवें टाउनहॉल बैठक को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने पूछा कि अब किस भरोसे से छात्र विश्वविद्यालय जाएंगे. साथ ही उन्होंने केंद्र सरकार पर दिल्ली पुलिस को कोई कार्रवाई नहीं करने का आदेश देने का भी आरोप लगाया.

दिल्ली के मतदाता QR code के जरिए डाल सकेंगे वोट, 11 विधानसभा क्षेत्रों में होगी यह सुविधा

और इसी बीच आप प्रवक्ता एवं ऑक्सफोर्ड से पढ़ी आतिशी के नेतृत्व में तीन सदस्यीय एक समिति दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए पार्टी का घोषणापत्र तैयार करेगी. इसे 15 से 20 जनवरी के बीच जारी किए जाने की संभावना है. पार्टी के वरिष्ठ नेता गोपाल राय ने बताया कि आतिशी के अलावा, आम आदमी पार्टी (आप) के प्रवक्ता एवं पूर्व आईपीएस अधिकारी अजय कुमार तथा ‘दिल्ली डॉयलॉग कमीशन’ के उपाध्यक्ष एवं कोलंबिया विश्वविद्यालय के छात्र रह चुके जसमीन शाह भी समिति का हिस्सा होंगे.