नई दिल्ली: दिल्ली से प्रवासी मजदूरों के पलायन को देखते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने डिजिटल प्रेस कॉन्फ्रेंस में लोगों से अपील की कि जो लोग जहां हैं वहीं रहें, बाहर नहीं निकलें. दिल्ली सरकार उनके रहने और खाने का पूरा इंतजाम कर रही है. उन्होंने प्रवासी मजदूरों से अपील की कि वे अपने घरो में रहें, सरकार उनके कमरे का किराया भी दे देगी. भाजपा पर गलत आरोप लगाने का तोहमत मढ़ते हुए सीएम केजरीवाल ने कहा कि शनिवार को भाजपा के लोगों ने गलत आरोप लगाए, तो हमारे वाले भी उलझने लगे. कोई झूठे आरोप लगता है तो आराम से सफाई देकर आगे निकल जाएं. केजरीवाल ने लोगों से कहा कि गीता का पाठ करें. गीता के 18 अध्याय हैं 18 दिन लॉकडाउन के बचे हैं. Also Read - क्या अंडरवर्ल्ड सरगना दाऊद इब्राहिम की कोरोना से हुई मौत?, सोशल मीडिया में अटकलों का बाजार गर्म

दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर भारी भीड़ की तरफ इशारा करते हुए केजरीवाल ने कहा कि अन्य राज्यों में भी लोग पलायन कर रहे हैं. गोवा, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश, उत्तराखंड आदि में लोग शहर छोड़कर गांव में जा रहे हैं. उन्होंने सभी से कहा है पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा है कि जो जहां हैं, वहीं रहें. यही कोरोना को रोकने का मंत्र है. ये मंत्र नहीं लागू हुआ, तो हम फेल हो जाएंगे. केजरीवाल ने कहा जो लोग अपना शहर छोड़कर गांव जा रहे हैं, उन्हें जान लेना चाहिये कि भीड़ में बगल वाले को अगर कोरोना होगा, तो आपको भी होगा. Also Read - राजस्थान में कोरोना वायरस से संक्रमितों का आंकड़ा 10128, अब तक मृतक संख्‍या 219

अगर इतने लोगों में 2-4 लोगों को भी कोरोना है, तो सबमें फैल जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर आपको भी हो गया तो गांव में कोरोना लेकर पहुंचोगे. मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री की अपील का पालन करने को कहा. उन्होंने कहा कि दिल्ली का सीएम और आपका बेटा होने के नाते कई स्कूल खाली करा दिए हैं, वहां गद्दे बिछवा दिए गए हैं, जरूरत पड़ी तो स्टेडियम में व्यवस्था करा देंगे. केजरीवाल ने यह भी कहा कि कोई किरायादार गरीबी की वजह से अगर किराया नहीं दे पाएगा तो उसका किराया दिल्ली सरकार देगी. कोई मकान मालिक जबरदस्ती न करे. Also Read - अगले हफ्ते से खुलेंगे तिरुमला मंदिर और सबरीमला मंदिर के पट, शर्तों के साथ मिलेगा प्रवेश