Arvind-Kejriwal-123नई दिल्ली, 10 जनवरी| भ्रष्टाचार विरोधी मुहिम से उपजी आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक एवं दिल्ली के पूर्व मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि वह कुछ भी हों, मगर भ्रष्टाचारी नहीं हैं और दिल्ली की जनता इसे अच्छी तरह जानती है। केजरीवाल ने यह टिप्पणी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा शनिवार को रामलीला मैदान में एक रैली के दौरान की गई उस टिप्पणी के जवाब में की है, जिसमें उन्हें ‘अराजकतावादी’ बताया गया और कहा गया कि आप नक्सलवाद की राह पर चल रही है। आप के लोगों को जंगलों में जाकर किसी नक्सली गुट में शामिल हो जाना चाहिए।

केजरीवाल ने देश के प्रधानमंत्री पद पर रहते हुए एक पार्टी के संयोजक पर व्यक्तिगत हमला करने के लिए भी मोदी की आलोचना की।

पूर्व मुख्यमंत्री ने मोदी की रैली के कुछ ही घंटे बाद एक संवाददाता सम्मेलन बुलाया और मोदी के सभी आरोपों का बिंदुवार जवाब दिया।

केजरीवाल ने कहा, “प्रधानमंत्री ने मुझे अराजकतावादी कहा, लेकिन मैंने कभी भी इस तरह निजी हमले नहीं किए। इससे भाजपा की घबराहट साफ दिखाई देती है। उनके भाषण से पता चल गया कि उनके पास दिल्ली के लिए कोई सकारात्मक एजेंडा नहीं है।”

केजरीवाल ने कहा, “मैं जो भी हूं उससे क्या फर्क पड़ता है, मैं भ्रष्टाचारी नहीं हूं। वे हमें झूठा, नक्सली कुछ भी कह सकते हैं, क्योंकि उनके पास हमारे खिलाफ कहने के लिए कुछ है ही नहीं। दिल्ली की जनता को पता है कि केजरीवाल क्या है।”

मोदी ने अपने भाषण में केजरीवाल का नाम लिए बगैर कहा था कि जिनके पास धरना, प्रदर्शन करने और सड़क जाम करने की मास्टरी हो, उसे वही काम दीजिए। जिसे सरकार चलाने की मास्टरी हो उसे सरकार चलाने का मौका दीजिए। मोदी ने मगर यह स्पष्ट नहीं किया कि दिल्ली भाजपा में सरकार चलाने की मास्टरी किसके पास है और वह दिल्ली की सत्ता पर किस ‘मास्टर’ को बैठा देखना चाहते हैं।

मोदी के मास्टरी वाले बयान के जवाब में केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली की भाजपा में ठीक से विरोध प्रदर्शन करने तक का शऊर नहीं है, वह ठीक से शासन क्या चलाएगी। हां, मोदी खुद दिल्ली का भी चार्ज अपने हाथ में ले लें, यह बात अलग है।

केजरीवाल ने कहा, “प्रधानमंत्री ने 15 साल के कांग्रेस शासन की बुराई की, लेकिन आप की सरकार के 49 दिनों के बारे में कुछ भी नहीं कहा। इससे साबित होता है कि वह स्वीकारते हैं कि हमने अच्छा काम किया।”

पूर्व मुख्यमंत्री ने भाजपा पर केंद्र की सत्ता में आने के बाद चुनावी वादे पूरे न करने का आरोप भी लगाया।

उन्होंने कहा, “भाजपा चुनाव के दौरान किए गए सारे वादे भूल चुकी है और कितने ही मामलों में यू-टर्न ले चुकी है। हमने दिल्ली में अपने 49 दिनों के कार्यकाल में भ्रष्टाचार खत्म कर दिया था। मगर भाजपा केंद्र की सत्ता में रहते इस दिशा में क्या कर रही है? भाजपा शासित राज्यों में कितना भ्रष्टाचार है, यह सभी जानते हैं।”

रामलीला मैदान में रैली के दौरान भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के बयान पर भी आप के संयोजक ने तल्ख टिप्पणी की।

केजरीवाल ने कहा, “अमित शाह ने कहा कि मोदी के शासन में महंगाई कम हुई है। मगर यह सच नहीं है। यह सब्जियों का सीजन है और सब्जियों के दाम बहुत ऊंचे हैं। सब्जी खरीदने हम बाजार जाते हैं, हमें पता है, अमित शाह शायद ही कभी बाजार जाते हों।”

उन्होंने कहा, “अमित शाह को न तो विरोध प्रदर्शन करने आता है और न ही शासन करना। हमें दोनों चीजें आती हैं। भ्रष्टाचार को सिर्फ हम खत्म कर सकते हैं। पिछली बार हमने यह करके दिखाया। अब अगले पांच साल में सबकी बोलती बंद करेंगे।”