नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह पर हमला बोलते हुए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने केंद्र की मोदी सरकार और राष्ट्रीय राजधानी की आप सरकार के प्रदर्शन पर सार्वजनिक बहस कराने की रविवार को चुनौती दी. इससे पहले शाह ने स्थानीय रामलीला मैदान में दिन में केजरीवाल पर आरोप लगाया था कि उन्होंने अपने साढ़े तीन साल के शासन के दौरान दिल्ली को विकास से ‘वंचित’ रखा. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने भाजपा नेता के इसी आरोप के उत्तर में उन्हें बहस की चुनौती दी है. दरअसल, भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज दिन में पूर्वांचल सम्मेलन को संबोधित करते हुए दिल्ली में आप सरकार के काम-काज पर सवाल उठाया था. अमित शाह ने इसी क्रम में कहा था, ‘केजरीवाल का एक मात्र मंत्र झूठ बोलना है.’

ताबड़तोड़ ट्वीट कर केजरी ने शाह को दी चुनौती
केजरीवाल ने हिंदी में ताबड़तोड़ ट्वीट करते हुए लिखा, ‘अमित शाह जी, जितने काम मोदी जी ने 4 साल में किए, उससे 10 गुना ज़्यादा काम हमने किए. मोदी जी ने जितने जनविरोधी और ग़लत काम किए, हमने एक भी ऐसा काम नहीं किया.’ उन्होंने लिखा है, ‘मैं आपको चैलेंज देता हूं. आइए इसी रामलीला मैदान में इस पर एक खुली बहस हो जाए- दिल्ली की सारी जनता के सामने.’ बाद में, दिल्ली सरकार ने बयान जारी कर भाजपा प्रमुख के आरोपों को खारिज किया. एक अन्य ट्वीट में केजरीवाल ने पूछा कि 14वें वित्त आयोग में भाजपा की अगुवाई वाली सरकार ने दिल्ली सरकार को कितने धन दिए हैं.

वित्त आयोग, सफाई, पुलिस- सब पर किए हमले
दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा, ‘अमित शाह जी, आपने दिल्ली को 14वें वित्त आयोग में कितने रुपए दिए? मात्र 325 करोड़? दिल्ली में भी तो पूर्वांचल के लोग रहते हैं. उनके विकास के लिए क्यों नहीं पैसे दिए? दिल्ली में रहने वाले पूर्वांचल के लोगों के ख़िलाफ़ केंद्र सरकार का भेदभाव क्यों?’ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर उसके शासनकाल में ओडिशा, झारखंड, बिहार और उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों सहित पूर्वी क्षेत्र के साथ अन्याय करने का आरोप लगाया था. भाजपा नेता ने अपने संबोधन में कहा था कि मोदी सरकार ने पिछले साढ़े चार साल में विकास सुनिश्चित करने के लिए 13.8 करोड़ रुपए जारी किए हैं. अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली में सफाई व्यवस्था और पुलिस के मामले में केंद्र सरकार पर जमकर हमला बोला. केजरीवाल ने ट्वीट किया, ‘आपको दिल्ली के लोगों ने दो ही काम दिए थे- सफ़ाई और पुलिस. आपने दोनों का बेड़ा गर्क कर दिया. ना आपसे दिल्ली की सफ़ाई होती है और ना पुलिस संभलती है.’ उन्होंने कहा, ‘हमें दिल्ली वालों ने बिजली, पानी, शिक्षा और अस्पतालों की ज़िम्मेदारी दी थी. इनमें हुए अच्छे कामों का डंका आज पूरी दुनिया में बज रहा है.’