नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कोरोना महामारी के मद्देनजर आज प्रेस को संबोधित किया. इस दौरान केजरीवाल ने कहा कि 1 महीने पहले 30 जून तक दिल्ली में 60,000 एक्टिव केस का अनुमान था लेकिन फिलहाल सिर्फ 26,000 एक्टिव मामले ही हैं. दिल्ली की हालत में अब धीरे-धीरे सुधार देखने को मिल रहा है. साथ ही अब 67 फीसदी मरीजों को इलाज कर ठीक किया जा रहा है. Also Read - बिहार: AIIMS- पटना में कोरोना संक्रमण के चलते 2 डॉक्‍टरों ने तोड़ा दम

मुख्यमंत्री ने कहा कि पहले प्रति 100 व्यक्ति में से 31 लोग कोरोना संक्रमित हो रहे थे. लेकिन अब सिर्फ 13 कोरोना संक्रमण के मामले ही सामने आ रहे हैं. दिल्ली में स्थिति अब कंट्रोल में आ रही है. उन्होंने आगे कहा कि कुछ एक्सपर्ट्स का ये कहना है कि दिल्ली में कोरोना अपने चरम यानी पीक पर पहुंच चुका है. ऐसी बातों पर ध्यान न दें. पूरी सतर्कतना बरते, मास्क जरूर लगाएं, साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन भी करें. Also Read - Bengluru Lockdown: आज से लागू होगा टोटल लॉकडाउन, जानें क्या खुलेगा और क्या नहीं?

केजरीवाल ने दिल्ली में बेड्स की संख्या पर बोला कि एक महीने पहले यहां के अस्पतालों में केवल 8,500 बेड्स ही कोरोना संक्रमितों के लिए उपलब्ध थे. लेकिन अब दिल्ली में 15,000 बेड्स की व्यवस्था की गई है. साथ ही उन्होंने कोरोना संक्रमितों के आकंड़ों पर कहा कि 23 जून को दिल्ली में 3,950 कोरोना संक्रमण के मामले आए थे. लेकिन कल करीब 2200 कोरोना संक्रमित के मामले देखने को मिलें. पिछले हफ्ते के मुकाबले इस हफ्ते संक्रमण के आंकड़ों में कमी देखने को मिली है. साथ ही मौत के आंकड़ों में भी गिरावट दर्ज की गई है. अभी हालात कंट्रोल में आ रहा है लेकिन हो सकता है कि बाद में यह खतरा बढ़ जाए.