नई दिल्ली: केजरीवाल सरकार ने राजधानी दिल्ली में कोरोना संक्रमण की रफ्तार और बेड्स की किल्लत को देखते हुए निजी अस्पतालों में बेड्स की संख्या को बढ़ाने का फैसला किया है. दिल्ली के 22 निजी अस्पतालों में 20 प्रतिशत से ज्यादा बेड्स की संख्या बढ़ाई जाएगी. बता दें कि पहले इन इन अस्पतालों में बेड्स की संख्या 1441 थी लेकिन नई बेड्स की संख्या को जोड़ने पर यह 3456 हो जाएगी. बता दें कि दिल्ली के कुछ प्रमुख अस्पतालों फोर्टिस, बत्रा, अपोलो, मैक्स, महाराजा अग्रसेजन, वेकंटेश्वर और बीएल कपूर अस्पतालों में कोरोना बेड्स की संख्या बढ़ाई जा रही है. Also Read - योगी सरकार ने दी यूपी में बड़े आयोजनों की अनुमति, कोविड प्रोटोकॉल का करना होगा पालन

बता दें कि इससे पहले दिल्ली सरकार ने निजी अस्पतालों को कोरोना के मद्देनजर आदेश जारी कर कहा था कि जितने भी 50 बेड्स से ज्यादा क्षमता वाले निजी अस्पताल/नर्सिंग होम हैं. वे अपने 20 प्रतिशत बेड्स को रिजर्व करें. लेकिन इसका किसी प्रकार का कोई असर देखने को नहीं मिला. दिल्ली में लगभग सभी अस्पतालों में बेड्स अब फुल हो चुके है. ऐसे में राज्य सरकार द्वारा बेड्स की संख्या को बढ़ाने का फैसला किया गया. बता दें कि बेड्स की ताजा संख्या को भी दिल्ली सरकार द्वारा जारी ऐप पर अपडेट कर दिया जाएगा. Also Read - दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला-जारी रहेगी बिजली-पानी पर सब्सिडी

सरकार ने एक्सट्रा बेड्स को लेकर निजी और सरकारी अस्पतालों को आदेश जारी कर कहा कि लोगों की अस्पताल में कोरोना वायरस के चल रहे इलाज व बेड्स की जानकारी हो इस कारण अस्पताल प्रशासन मुख्य गेट पर एक बोर्ड लगाए. इस बोर्ड पर अस्पताल में कोरोना संबंधि बेड्स की जानकारी को साझा किया जाएगा. Also Read - Coronavirus in Rajasthan Update: राजस्थान में नहीं थम रहा कोरोना से मौत का सिलसिला, मरने वालों की संख्या 450 के पार