नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि दिल्ली वाले डेंगू को मारने और प्रदूषण को नियंत्रण में लाने में सफल हुए हैं. साथ ही उन्होंने लोगों से इस दशहरे पर समाज में मौजूद रावण जैसी शक्तियों को हराने का आह्वान किया. लाल किले के नजदीक आयोजित दशहरा कार्यक्रम में वह बोल रहे थे जिसका आयोजन लव-कुश रामलीला समिति ने किया था. केजरीवाल ने राक्षस रावण, उनके बेटे मेघनाद और भाई कुंभकर्ण के पुतलों को जलाने के लिए तीर चलाया.

इस मौके पर उन्होंने कहा, ‘‘ हमें समाज में रावण जैसी शक्तियों को हराना होगा. डॉक्टर कह रहे थे कि इस मौसम में डेंगू के मामले बढ़ेंगे लेकिन डेंगू के खिलाफ हमारे अभियान के जरिये राष्ट्रीय राजधानी के लोग घातक डेंगू को मारने और उसे नियंत्रित करने में सफल हुए.’’ उन्होंने कहा कि दिल्लीवाले प्रदूषण को भी नियंत्रित करने में सफल हुए.

केजरीवाल ने कहा, ‘‘ दिल्ली में प्रदूषण घटना शुरू हो गया है और यह 25 फीसदी तक कम हुआ है. दिल्ली सरकार ने दिवाली की शाम कनॉट प्लेस पर लेजर शो करने की योजना बनाई है और ‘आप’ सभी को वहां आने के लिए आमंत्रित करती है.’’ इस मौके पर अभिनेत्री भूमि पेडनेकर भी मौजूद रहीं.

इसी दौरान दिल्ली सीएम को सी-40 जलवायु सम्मेलन में शामिल होने से भी रोक दिया गया है. केजरीवाल सम्मेलन में भारत की आठ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व करने वाले थे. सूत्रों के अनुसार विदेश मंत्रालय ने पश्चिम बंगाल के शहरी विकास मंत्री फरहाद हकीम को सम्मेलन में शामिल होने की मंजूरी दे दी है. सम्मेलन में केजरीवाल दिल्ली में आप सरकार द्वारा प्रदूषण नियंत्रण के लिए किए गए प्रयासों समेत कई अन्य मुद्दों पर संबोधित करने वाले थे.

दिल्ली में कैसे कम किया प्रदूषण, केजरीवाल को ये बताने डेनमार्क जाना था, केंद्र सरकार ने नहीं दी मंजूरी

22 सितंबर को दिल्ली सरकार ने एक आधिकारिक बयान में कहा था कि मुख्यमंत्री द्वारा दिल्ली में वायु प्रदूषण कम करने के आप सरकार के प्रयासों और अनुभव को शिखर सम्मेलन में साझा करने की उम्मीद थी. आप सरकार के प्रयासों की बदौलत दिल्ली के वायु प्रदूषण में 25 प्रतिशत तक की कमी आयी है. आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने इसे ‘‘बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण’’ बताते हुए कहा, ‘‘इससे अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर भारत की छवि धूमिल होगी. लोग क्या सोचेंगे कि हमारी संघीय संरचना कैसे काम करती है. केंद्र सरकार हमारे खिलाफ क्यों है?’’