नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज प्रेस को संबोधित करते हुए बताया कि दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या लगातार बढ़ रही है. कोरोना वायरस से संक्रमित लोगों की देखभाल को लेकर किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं हैं. हमने पर्याप्त व्यवस्था की है. अगर आपके परिवार का कोई सदस्य कोरोना संक्रमित पाया जाता है तो उसे आवश्यक चिकित्सा सेवाएं दिल्ली सरकार द्वारा उपलब्ध कराई जाएंगी. उन्होंने कहा कि हम कोरोना वायरस से चार कदम आगे चल रहे हैं. यहां संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि देखने को मिल रही है लेकिन हमारी तैयारी पूरी है. हमने बेड, आईसीयू और वेंटिलेटर की सारी व्यवस्था की हुई है.Also Read - दिल्‍ली में सियासी मुलाकातें: शरद पवार मिले लालू यादव से, ममता बनर्जी मिलीं अरविंंद केजरीवाल से

उन्होंने आगे कहा कि हालांकि ऐसे कई उदाहरण सामने आ रहे हैं जहां लोग बेड और चिकित्सा सुविधाओं की कमी को लेकर शिकायत कर रहे हैं. लेकिन ऐसा नहीं है. राजधानी में 4100 बेड खाली हैं. भविष्य में इस तरह की स्थिति न बने इस कारण हम एक ऐप लॉन्च करने जा रहे हैं. यह आपको दिल्ली के सभी अस्पतालों और साथ ही सरकार के बारे में जानकारी प्रदान करेगा. इस ऐप के तहत आप जान पाएंगे कि किस अस्पताल में कितना बेड्स खाली हैं. Also Read - Delhi Corona Update: दिल्ली में अब कोरोना के 573 एक्टिव मरीज, बीते 24 घंटे में 67 नए मामले और 3 की मौत

Also Read - Sri Lanka vs India, 2nd T20I: दूसरे होटल में शिफ्ट हुए Krunal Pandya, टीम के साथ नहीं लौट सकेंगे भारत

केजरीवाल ने आगे बोलते हुए कहा कि दिल्ली में कुल 302 वेंटिलेटरों की सुविधा उपलब्ध है. इन वेंटिलेटरों में से 210 अब भी खाली हैं. इस तरह की सभी जानकारियों ऐप पर दिन में दो बार अपडेट की जाएंगी. सुबह 10 बजे और शाम के 6 बजे आप पूरी जानकारी सही सही प्राप्त कर सकेंगे. साथ ही आप चाहें तो बेड संबंधि या चिकित्सा संबंधि किसी समस्या के लिए हमारी हेल्पलाइन नंबर 1031 पर कॉल भी कर सकते हैं.

इसके बाद आपके फोन पर बेडों की उपलब्धता को लेकर आपको मैसेज भी दिया जाएगा. उन्होंने कहा कि अस्पतालों में बिस्तर उपलब्ध होने के बावजूद अगर कोई बिस्तर उपलब्ध कराने से मना करता है तो आप हमें 1031 पर फोन कर सकते हैं. हमारे विशेष सचिव इस मामले पर तुरंत कार्रवाई करेंगे. साथ ही अस्पताल के अधिकारियों से संपर्क कर आपको बिस्तर भी उपलब्ध कराएंगे.