नई दिल्ली: मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य की मांग आम आदमी पार्टी (आप) के चुनावी घोषणा पत्र का हिस्सा होगी और पार्टी इसके लिए लड़ाई जारी रखेगी. दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य की मांग पिछले वर्ष हुए लोकसभा चुनावों में आप का मुख्य चुनावी मुद्दा था. बहरहाल, इसका दिल्ली के लोगों पर कोई असर नहीं हुआ और आप के उम्मीदवार महानगर में सभी सात सीटों पर चुनाव हार गए. ‘एबीपी’ समाचार चैनल के पांचवें टाउनहॉल बैठक को संबोधित करते हुए केजरीवाल ने कहा कि पूर्ण राज्य की मांग एकमात्र वादा था जिसे पार्टी पूरा नहीं कर पाई.

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली के लिए पूर्ण राज्य की मांग आप के चुनावी घोषणा पत्र का हिस्सा होगा और पार्टी इसके लिए लड़ाई जारी रखेगी.’’ मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर फिर से चुना गया तो दिल्ली की सड़कों को अगले पांच वर्षों में लंदन और टोक्यो की सड़कों की तरह बना दूंगा. उन्होंने कहा कि उनका ध्यान दिल्ली को सुंदर बनाने पर है और महानगर में 40 सड़कों को फिर से डिजाइन किया जा रहा है.

केजरीवाल ने कहा, ‘‘नये तरीके से डिजाइन नवम्बर तक हो जाएगा और फिर उसी तरह से सभी सड़कों को डिजाइन किया जाएगा. हम दिल्ली की सड़कों को लंदन और टोक्यो की सड़कों की तरह बना देंगे.’’ उन्होंने कहा, ‘‘महानगर में जहां संकरी सड़कें हैं और जहां भीड़भाड़ होती है उनकी पहचान के लिए हमने कंसल्टेंट की सेवा ली है. वे अगले कुछ महीने में अपनी योजना सौंपेंगे और उनके सुझावों पर हम यातायात भीड़भाड़ की समस्या का समाधान करने का प्रयास करेंगे.’’

उन्होंने कहा, ‘‘दिल्ली में काफी काम किया जाना है. यमुना की सफाई की जानी है, दिल्ली की सफाई की जानी है, प्रदूषण पर नियंत्रण किया जाना है और परिवहन में सुधार की जरूरत है.’’ केजरीवाल ने कहा, ‘‘हमने दिल्ली में 300 मोहल्ला क्लीनिक शुरू किए थे और कल 150 मोहल्ला क्लीनिक खुल जाएंगे.’’ उन्होंने दिल्ली में आग लगने की घटनाओं पर चिंता जाहिर करते हुए कहा कि आग लगने की घटनाओं में अगर कोई साम्यता पाई गई तो वह कार्रवाई करेंगे. केजरीवाल ने कहा था कि आप 15 से 20 जनवरी के बीच अपना चुनावी घोषणा पत्र जारी कर सकती है.

(इनपुट भाषा)