नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शुक्रवार को कहा कि उनकी सरकार राष्ट्रीय राजधानी में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के मद्देनजर तीन सरकारी सरकारी अस्पतालों में बड़े पैमाने पर आईसीयू बेड लगाएगी. ऑनलाइन प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि दिल्ली में अब तक संक्रमण के 74,000 मामले सामने आए हैं जिनमें से 45,000 मरीज स्वस्थ हो चुके हैं. Also Read - सभी मीडिया हाउस के ऑफिस में जाकर कोरोना वैक्सीन लगाएगी दिल्ली सरकार, खुद उठाएगी सारा खर्चा

केजरीवाल ने कहा कि मामलों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय है लेकिन इससे घबराने की जरूरत नहीं है क्योंकि कोविड-19 स्थिति ‘‘अब भी नियंत्रण में है.” उन्होंने कहा, “हमने जांच की क्षमता तीन गुना बढ़ा दी है और इसलिए शहर में मामले बढ़ रहे हैं.” Also Read - दिल्ली में प्राइवेट एम्बुलेंस सेवाओं के लिए अधिकतम कीमत तय की गई, 'आदेश न मानने वालों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई'

उन्होंने कहा कि एलएनजेपी अस्पताल, राजीव गांधी सुपर स्पेशिएलिटी अस्पताल और जीटीबी अस्पताल में सरकार बड़े पैमाने पर और आईसीयू बेड लगाने वाली है. साथ ही कहा कि दिल्ली सरकार पिछले 10 दिनों में होटलों में कोविड-19 मरीजों के लिए पहले ही 3,500 बेड उपलब्ध करा चुकी है. Also Read - Oxygen Home Delivery in Delhi: अब कोरोना रोगियों के घर पहुंचाई जाएगी ऑक्सीजन, दिल्ली सरकार का बड़ा फैसला; यहां करें अप्लाई

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि घरों में पृथक रह रहे कोविड-19 के मरीजों को नब्ज मापने वाले ऑस्कीमीटर दिए गए हैं और यह बीमारी के खिलाफ “सुरक्षा चक्र” की तरह काम करेगा. केजरीवाल ने कहा कि सरकार को शहर में 200 मरीजों पर प्लाज्मा थैरेपी के इस्तेमाल की अनुमति मिल गई है.

(इनपुट भाषा)