नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Delhi CM Arvind Kejriwal) ने गुरुवार को कहा कि वह यह निर्णय दिल्ली की जनता पर छोड़ते हैं कि वह उन्हें अपना बेटा मानते हैं, भाई मानते हैं या फिर आतंकवादी समझते हैं. केजरीवाल ने कहा, ”ये निर्णय आज मैं आप पर छोड़ता हूं कि मैं आपका बेटा हूं, भाई हूं या आतंकवादी.” अरविंद केजरीवाल ने कहा, हर डॉक्टर ने कहा था कि केजरीवाल 24 घंटे से ज्यादा नहीं जीएंगे, मैंने देश के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी. पिछले 5 वर्षों में उन्होंने मुझे परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, मेरे घर, मेरे कार्यालय पर छापा मारा, मेरे खिलाफ मामले दर्ज किए, मैं आतंकवादी कैसे हो सकता हूं? Also Read - मध्यप्रदेश: शिवराज सिंह चौहान ने किया ऐसा ट्वीट की भड़क गई कांग्रेस, कर डाली चुनाव आयोग से शिकायत

एक भाजपा नेता द्वारा एक चुनावी रैली में केजरीवाल को कथित तौर पर ‘आतंकवादी’ कहे जाने के बाद आप के राष्ट्रीय संयोजक ने यह प्रतिक्रिया दी. उन्होंने कहा, ”मैंने अपना जीवन देश की सेवा में लगाया है. केजरीवाल ने कहा कि उन्होंने मधुमेह का रोगी होने के बाद भी भ्रष्टाचार के खिलाफ भूख हड़ताल की.” Also Read - एमपी में कांग्रेस उपचुनाव जीती, तो दोबारा "परदे के पीछे मुख्‍यमंत्री" बन जाएंगे दिग्विजय सिंह: ज्‍योतिरादित्‍य सिंधिया

अरविंद केजरीवाल ने कहा, ”मुझे डायबिटीज है. मैं एक दिन में चार बार इन्सुलिन लेता हूं. अगर मुधमेह से ग्रसित एक व्यक्ति इन्सुलिन लेता है और 3-4 घंटे कुछ न ले तो वह बेहोश हो सकता है, यहां तक कि मर सकता है. इस स्थिति में भी भ्रष्टाचार के खिलाफ मैंने दो बार भूख हड़ताल की, एक बार 15 दिन और दूसरी बार 10 दिन तक.” Also Read - Board Syllabus: कांग्रेस नेता का सीएम को पत्र, कहा- कक्षा 12वीं के सिलेबस में नेहरू की नीतियों वाली अध्यायों को बनाए रखा जाए  

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, हर डॉक्टर ने कहा था कि केजरीवाल 24 घंटे से ज्यादा नहीं जीएंगे, मैंने देश के लिए अपनी जान की बाजी लगा दी. पिछले 5 वर्षों में उन्होंने मुझे परेशान करने में कोई कसर नहीं छोड़ी, मेरे घर, मेरे कार्यालय पर छापा मारा, मेरे खिलाफ मामले दर्ज किए, मैं आतंकवादी कैसे हो सकता हूं?