नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने बुधवार को विपक्षी भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पर निशाना साधते हुए कि वह दिल्ली में दंगे भड़काने में लगी है और हमेशा की तरह इल्जाम दूसरे पर मढ़ रही है. उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा, “किसी से छिपा नहीं है, सभी जानते हैं कि देश में दंगे कौन लोग भड़काते हैं.” मीडिया से बात करते हुए उन्होंने परोक्ष रूप से भाजपा पर निशाना साधा और कहा कि विपक्ष को यह एहसास हो गया है कि आने वाले विधानसभा चुनाव में फिर आम आदमी पार्टी (आप) की जीत होने जा रही है.

दिल्ली विधानसभा में भाजपा के दो और अकाली दल के एक विधायक हैं. ये तीनों विपक्ष की भूमिका में हैं. केजरीवाल ने कहा, “ऐसे समय में, जब दिख रहा है कि आप अगला विधानसभा चुनाव भी जीतने वाली है, विपक्ष लगातार दिल्ली में हिंसा कराने की कोशिश कर रहा है.” हिंसा में आप नेता की भूमिका होने का आरोप लगाए जाने के बाबत पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि सोचने वाली बात है कि इससे उनकी पार्टी को कोई फायदा नहीं होने वाला है, नुकसान ही होगा. तब ऐसा काम उनकी पार्टी के लोग क्यों करेंगे. भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया है कि दिल्ली में रविवार से शुरू हुई हिंसा के लिए कथित तौर पर आप नेता जिम्मेदार हैं.

केजरीवाल ने कहा, “हम पर आरोप लगाने वाला विपक्ष खुद ही हिंसा फैला रहा है. सिर्फ उन्हें ही हिंसा फैलाकर फायदा उठाने की आदत रही है. आप क्यों हिंसा करेगी, हमें इससे क्या लाभ होगा? जिन्हें हारने (चुनाव में) का डर है, वे ही हिंसा में शामिल हैं, वे सोचते हैं, इसका उन्हें फायदा होगा. लेकिन दिल्ली की जनता अपना मन बना चुकी है. दिल्लीवासी इन लोगों के झांसे में आने वाले नहीं हैं.”

उन्होंने आगे कहा, “सभी जानते हैं कि भारत में कौन दंगे भड़काता है.” केजरीवाल ने कहा कि वह दिल्ली में बिगाड़े जा रहे हालात को लेकर चिंतित हैं और उन्होंने सभी से कानून-व्यवस्था को बनाए रखने की अपील की है. उन्होंने कहा, “हम सभी के पास प्रदर्शन करने का अधिकार है, लेकिन शांतिपूर्ण और अहिंसा के माध्यम से.”