नई दिल्ली. आम आदमी पार्टी के प्रमुख अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालकृष्ण अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी जैसे वरिष्ठ नेताओं को आगामी लोकसभा चुनाव में नहीं उतारकर उन सबका अपमान किया है. दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल ने कहा कि प्रधानमंत्री का रवैया हिन्दू संस्कृति के खिलाफ है, जो कि लोगों को अपने बुजुर्गों का सम्मान करने की सीख देती है.

केजरीवाल ने सिलसिलेवार ट्वीट में कहा, मोदी जी ने जिस तरह अपने बुज़ुर्गों- आडवाणी जी और मुरली मनोहर जी- का अपमान किया है, ये हिंदू संस्कृति के बिलकुल खिलाफ है. हिंदू धर्म में हमें अपने बुजुर्गों का सम्मान करना सिखाया गया है. उन्होंने कहा, लोग इस बात की चर्चा कर रहे हैं कि मोदी, जोशी और सुषमा (विदेश मंत्री सुषमा स्वराज) का अपमान क्यों कर रहे हैं.

चुनाव नहीं लड़ने को कहा
लोकसभा सदस्य मुरली मनोहर जोशी को उनकी पार्टी ने आगामी चुनाव नहीं लड़ने को कहा है. इसी तरह पार्टी के संस्थापक सदस्य और लंबे समय तक पार्टी के प्रमुख रहे लालकृष्ण अडवाणी को भी चुनाव में नहीं उतारने का फैसला किया गया. केजरीवाल ने एक अन्य ट्वीट में कहा, जिन बुजुर्गों ने घर बनाया, उन्हें बाहर निकाल दिया गया है. जब वह अपने बुजुर्गों का सम्मान नहीं कर सकते तब वह किनकी मदद करेंगे.