नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की पत्नी सुनीता केजरीवाल ने मंगलवार को कहा कि उनके जन्मदिन पर विधानसभा चुनाव में दिल्ली के लोगों ने जो जनादेश दिया है, इससे बेहतर उपहार और कुछ नहीं हो सकता था. Also Read - Delhi Lockdown Update: दिल्ली में लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं? जानें क्या है ताजा अपडेट- क्या कहते हैं विशेषज्ञ...

पार्टी कार्यालय में पूर्व आईआरएस अधिकारी सुनीता ने कहा कि प्रचार के दौरान कई उतार चढ़ाव देखे, लेकिन पार्टी के सदस्यों को अपने काम पर पूरा भरोसा था. Also Read - Delhi Corona Updates: कोरोना से अनाथ हुए बच्चों-बेसहारा बुजुर्गों की मदद करेगी दिल्ली सरकार- जानें केजरीवाल ने क्या की घोषणा...

सुनीता ने कहा, ”दिल्ली के लोगों ने मुझे तोहफा दिया है, इससे बेहतर तोहफा नहीं हो सकता था. उत्सुकता थी. कई उतार-चढ़ाव चल रहे थे. हमने अपने काम पर भरोसा किया. दिल्ली ने काम को जिता दिया.” उन्होंने कहा कि प्रचार अभियान के दौरान उनके पति पर निजी हमला किया जाना जरूरी नहीं था. Also Read - कोरोना के कारण अनाथ परिवारों और बच्चों की मदद करेंगे सीएम केजरीवाल

केजरीवाल की बेटी हर्षिता ने कहा कि उन्होंने पार्टी के लिए अपने कार्यालय से छुट्टी ली थी और मार्च में काम पर लौट जाएंगी. उन्होंने कहा, मेरी तरह कई कार्यकर्ताओं ने पार्टी के लिए काम से छुट्टी ली थी और मैं काम पर वापस लौट जाऊंगी.

राष्ट्रीय राजधानी में आप मुख्यालय में जश्न में डूबे समर्थकों और पार्टी के कार्यकर्ताओं को संक्षिप्त संबोधन में केजरीवाल ने कहा, आई लव यू.” उन्‍होंने अपनी पत्‍नी के जन्‍मदिन के बारे में बताया और केक भी काटा.

मुताबिक दिल्ली में 70 विधानसभा सीटों में आम आदमी पार्टी 63 पर बढ़त बनाए हुए है जबकि भाजपा 8 निर्वाचन क्षेत्रों में आगे है उन्होंने कहा, यह दिल्ली के लोगों की जीत है, जिन्होंने मुझे अपना बेटा माना…हनुमानजी ने मुझे आशीर्वाद दिया. भगवान मुझे दिल्ली के लोगों की सेवा करने की और ताकत दे.

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में काम की राजनीति का जन्म हुआ और आप की जीत समूचे देश की जीत है. समर्थकों को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ”भारत माता की जय ….इंकलाब जिंदाबाद.”