नई दिल्ली। भाजपा के पूर्व सांसद यशवंत सिन्हा ने आज कहा कि भारत में सत्ता में काबिज लोगों की पूजा करने की प्रवृत्ति है और इसलिए नरेंद्र मोदी को करिश्माई नेता के तौर पर देखा जाता है क्योंकि वह प्रधानमंत्री हैं. सिन्हा ने एक किताब के विमोचन समारोह के दौरान यह बयान दिया.

सत्ता पर काबिज लोगों की पूजा

उन्होंने कहा, हम लोगों में एक राष्ट्रीय कमजोरी है कि हम सत्ता में काबिज लोगों की पूजा करना शुरू कर देते हैं. हमें इससे छुटकारा पाने की जरूरत है. मोदी के नेतृत्व और उनकी सरकार के चार वर्षों पर किए गए सवाल पर पूर्व केंद्रीय मंत्री ने कहा कि वह सत्ता में हैं इसलिए वह करिश्माई प्रतीत होते हैं.

सिन्हा ने कहा, आज मोदी को करिश्माई नेता के तौर पर देखा जाता है क्योंकि वह प्रधानमंत्री हैं. जब वह सत्ता में नहीं होंगे तब वह करिश्माई भी नहीं होंगे. लोग इसे ऐसे ही देखते हैं. मोदी के साथ काम किए अपने बीते दिनों को याद करते हुए भाजपा के पूर्व नेता ने कहा कि उन्होंने एक विनम्र मोदी को देखा है. लेकिन अब वह तेजी से बढ़ रहे हैं.

कुछ करिश्माई नेता जेल में भी हैं

सिन्हा ने बिना किसी का नाम लिए कहा कि कुछ करिश्माई नेता जेल में भी हैं. पूर्व केंद्रीय मंत्री ने हाल ही में भाजपा छोड़ दी थी. वहीं राफेल समझौते, नोटबंदी और अर्थव्यवस्था सहित कई मुद्दों पर वह मोदी सरकार की खुलकर आलोचना भी करते रहे हैं. विपक्ष के साथ खड़े रहकर भी उन्होंने कई बार पीएम मोदी और मोदी सरकार पर हमला बोला है. बीजेपी के एक और असंतुष्ट नेता अरुण शौरी के साथ मिलकर यशवंत सिन्हा ने मौजूदा बीजेपी हाईकमान के खिलाफ खुलकर मोर्चा लिया है. खास बात ये है कि उनके बेटे जयंत सिन्हा मोदी सरकार में मंत्री हैं, बावजूद इसके यशवंत सिन्हा ने हर मंच और हर मौके पर मोदी सरकार को निशाना बनाया है.