नई दिल्ली: एआईएमआईएम के नेता असदुद्दीन ओवैसी ने यूएपीए कानून के दुरुपयोग के लिए कांग्रेस को जिम्मेदार ठहराते हुए बुधवार को लोकसभा में कहा कि सत्ता से बाहर होते ही कांग्रेस मुसलमानों की ‘बिग ब्रदर’ बन जाती है. सदन में ‘विधि-विरूद्ध क्रियाकलाप (निवारण) संशोधन विधेयक-2019’ पर चर्चा में भाग लेते हुए ओवैसी ने कहा कि यूएपीए कानून का जो दुरुपयोग हुआ है उसकी असली दोषी कांग्रेस है. Also Read - सुभाषचंद्र बोस के धर्मनिरपेक्ष विचारों के खिलाफ थे RSS के लोग, BJP को जयंती मनाने का अधिकार नहीं: कांग्रेस

Also Read - Congress President Election: कांग्रेस ने कहा- जून में उसका नया निर्वाचित अध्यक्ष होगा

  Also Read - कौन हैं पीरजादा सिद्दीकी, जिन्होंने बंगाल में पार्टी बनाने का किया ऐलान और उड़ गई ममता बनर्जी की नींद

उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस सत्ता में रहते हुए पहले संशोधन विधेयक लेकर आई थी तब भी मैंने इसका विरोध किया था तो कांग्रेस ने कहा कि मैं राष्ट्रीय हित नहीं जानता. ओवैसी ने दावा किया कि सत्ता में रहते हुए कांग्रेस का रुख इस तरह का होता है और सत्ता से बाहर होते ही मुसलमानों की ‘बिग ब्रदर’ बन जाती है. ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस को हमारे दर्द का अहसास तब होगा जब उसके किसी शीर्ष नेता को महीनों के लिए इस कानून के तहत जेल हो जाए.

बंदूक से नहीं, व्यक्ति की मंशा में पैदा होता है आतंकवाद, कठोर कानून की जरूरत: शाह

ओवैसी के आरोप पर कांग्रेस का विरोध

इस पर भाजपा के कुछ सदस्य भी मेजें थपथपाते देखे गए. ओवैसी के आरोप पर कांग्रेस के गौरव गोगोई और कुछ अन्य सदस्य विरोध करते हुए अपने स्थान पर खड़े हो गए. गोगोई ने कहा कि ओवैसी ने अपमानजनक भाषा का इस्तेमाल किया है और इसे रिकॉर्ड से हटाना चाहिए. पीठासीन सभापति मीनाक्षी लेखी ने कहा कि रिकॉर्ड की जांच की जाएगी और कुछ आपत्तिजनक होगा तो हटाया जाएगा.