नई दिल्ली। एमआईएम प्रमुख असदुद्दीन ओवैसी ने एनएसए अजीत डोवाल और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह की मुलाकात पर बड़े सवाल उठाए हैं. इसके साथ ही ओवैसी ने कश्मीर के मुद्दे पर भी केंद्र सरकार और बीजेपी को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर पर इस सरकार की कोई पॉलिसी ही नहीं है.

कश्मीर पर केंद्र की पॉलिसी ही नहीं

ओवैसी ने कहा कि कश्मीर में आतंकवाद खत्म नहीं हो पाया है, पीडीपी-बीजेपी सरकार पूरी तरह नाकाम साबित हुई है. एक आतंकी मरता है तो दूसरा पैदा हो जाता है. सरकार कश्मीर पर अपनी नीति साफ करे. उसकी हर पॉलिसी नाकाम हुई है. ओवैसी ने कहा कि कश्मीर पर सरकार की कोई पॉलिसी ही नहीं है. ओवैसी ने कहा कि अभी तक शुजात बुखारी के हत्यारे भी नहीं पकड़े गए हैं.

बीजेपी नेताओं की अहम बैठक से पहले अजीत डोवाल ने की अमित शाह से मुलाकात 

शाह-डोवाल की मुलाकात पर सवाल

ओवैसी ने अमित शाह और एनएसए अजीत डोवाल की मुलाकात पर भी सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा कि दोनों के बीच क्या बात हुई ये पूरे देश को पता चलनी चाहिए. एनएसए सिर्फ सत्ताधारी पार्टी से ही क्यों मिले, बाकी दलों से क्यों नहीं? ये सरकार सिर्फ आदेश देती है किसी से सलाह नहीं लेती.

कश्मीर मुद्दे पर अहम बैठक

बता दें कि आज अजीत डोवाल ने अमित शाह से उनके आवास पर मुलाकात की थी. बताया जा रहा है कि इसमें कश्मीर के मुद्दे पर चर्चा हुई. कश्मीर पर आज ही अमित शाह ने जम्मू कश्मीर के मंत्रियों और बीजेपी नेताओं की बैठक भी बुलाई थी. कश्मीर में बिगड़े हालात और मौजूदा सियासी दांवपेंचों के बीच इस बैठक को अहम माना जा रहा है. सीजफायर खत्म करने के केंद्र के फैसले से सहयोगी पीडीपी नाखुश है.

अशांत कश्मीर

घाटी में पिछले कुछ दिनों में हालात बेहद खराब रहे हैं. रमजान के दिनों में सरकार की ओर से घोषित एकतरफा सीजफायर के दौरान आतंकियों ने जमकर कोहराम मचाया. ईद से ठीक दो दिन पहले 14 मई को आतंकियों ने दो बड़ी वारदातों को अंजाम दिया. इस दिन आतंकियों ने राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी की गोली मारकर हत्या कर दी फिर सेना के जवान औरंगजेब खान की उस वक्त अगवा कर हत्या कर दी जब वह ईद की छुट्टी पर अपने घर जा रहा था.