नई दिल्ली। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से दी गई इफ्तार दावत में पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी की मौजूदगी पर सियासी जंग छिड़ गई है. एमआईएम के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने इसे लेकर कांग्रेस को निशाने पर लिया है. ओवैसी ने अपने अंदाज में इसे लेकर कांग्रेस और राहुल गांधी दोनों को जमकर सुनाया है. ओवैसी ने प्रणब मुखर्जी को इफ्तार दावत में बुलाने को कांग्रेस का सबसे बड़ा पाखंड करार दिया.

कांग्रेस को बताया पाखंडी 

ओवैसी ने कहा, यह कांग्रेस का सबसे बड़ा पाखंड है. कांग्रेस की मुस्लिम सशक्तिकरण में दिलचस्पी नहीं है. ये लोग हिंदू वोट खींचने की पुरजोर कोशिश में लगे हैं. इफ्तार दावत में प्रणब मुखर्जी को न्यौता देकर, उन्हें राहुल गांधी की बगल में बिठाने के बाद संदेश साफ है. बता दें कि प्रणब मुखर्जी के संघ के कार्यक्रम में जाने को लेकर ओवैसी ने इस तरह की नाराजगी जाहिर की है. कई कांग्रेस नेताओं के विरोध के बावजूद वह संघ के कार्यक्रम में पहुंचे थे.

इफ्तार दावत में पहुंचे थे प्रणब मुखर्जी

बुधवार को राहुल गांधी की ओर से दी गई इफ्तार पार्टी में कई दिग्गज पहुंचे थे. इनमें सबसे बड़ा नाम था पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का. प्रणब मुखर्जी ने कुछ दिन पहले ही नागपुर में संघ के कार्यक्रम में हिस्सा लेकर कांग्रेस के कई नेताओं को नाराज कर दिया था. मनीष तिवारी, संदीप दीक्षित जैसे नेताओं ने सीधे उन्हें निशाने पर लिया, वहीं जयराम रमेश, जाफर शरीफ ने उन्हें पत्र लिखकर संघ के कार्यक्रम में नहीं जाने की गुजारिश की थी. खुद प्रणब मुखर्जी की बेटी शर्मिष्ठा ने भी उनके नागपुर नहीं जाने की अपील की थी. लेकिन प्रणब मुखर्जी ने सबको अनसुना करते हुए कार्यक्रम में शिरकत की. इसी को लेकर कांग्रेस में खासा विवाद उठा था. हालांकि हाईकमान और बड़े नेताओं ने इस मुद्दे पर पूरी तरह चुप्पी साधते हुए इसे प्रणब दा का निजी फैसला करार दिया था.

दिल्ली से लेकर पटना और भोपाल तक…यूं चला सियासी गलियारों में इफ्तार दावत का दौर

न्यौते पर था सस्पेंस

राहुल गांधी की इफ्तार दावत तब चर्चा में आई थी जब खबर उड़ी थी कि इसमें पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को न्यौता नहीं दिया गया है. लेकिन कांग्रेस ने इसे खारिज करते हुए कहा कि उन्हें न्यौता भेजा गया था जिसे स्वीकार कर लिया. बुधवार को राहुल की इफ्तार पार्टी में प्रणब मुखर्जी के अलावा पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल, पूर्व उप राष्ट्रपति हामिद अंसारी सहित कई नेता पहुंचे.