Rajasthan Political Crisis: राजस्थान विधानसभा का सत्र 14 अगस्त से बुलाए जाने की घोषणा के बाद राज्य में अशोक गहलोत सरकार अपने विधायकों को बचाए रखने के अभियान में जुटी हुई है. इस कड़ी में आज गहलोत सरकार का समर्थन कर रहे विधायकों को जयपुर से जैसलमेर ले जाया जाएगा. पार्टी सूत्रों ने यह जानकारी दी.Also Read - Congress President Election: मल्लिकार्जुन खड़गे के चुनाव लड़ने पर BJP ने ली चुटकी, तंज कसते हुए कही यह बात...

उन्होंने कहा कि यहां के एक होटल में रुके अशोक गहलोत खेमे के कांग्रेस व समर्थक विधायकों को जैसलमेर ले जाया जा रहा है. उन्होंने कहा कि विधायकों की बैठक होगी, जिसे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत संबोधित करेंगे. इसके बाद उन्हें जैसलमेर ले जाया जाएगा. उल्लेखनीय है कि ये विधायक 13 जुलाई से जयपुर के बाहर एक होटल में रुके हैं. विधानसभा का आगामी सत्र 14 अगस्त से होना है और तब तक ये विधायक एक साथ ही रुकेंगे. Also Read - 'गद्दार बनाम वफ़ादार' पर पहुंची राजस्थान कांग्रेस की सियासी लड़ाई, 'गहलोत के हनुमान' बोले- पायलट कांग्रेस के सबसे बड़े गद्दार

Also Read - कांग्रेस अध्यक्ष चुनाव: ‘जी 23’ के चार नेताओं ने बैठक की, कहा- जो सबसे सही होगा, उसका समर्थन करेंगे

इस बीच मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा है कि 14 अगस्त से विधानसभा सत्र बुलाए जाने की घोषणा के कारण राज्य में विधायकों की खरीद-फरोख्त का भाव काफी बढ़ गया है. उन्होंने कहा कि पहले यह भाव 10 से 15 करोड़ था जो अब बढ़कर अनगिनत हो गया है. गौरतलब है कि राज्य के राजनीतिक संकट के बीच राज्यपाल ने अंततः 14 अगस्त से सत्र बुलाने की अनुमति दी है.