नई दिल्ली/जयपुर. राजस्थान के पूर्व सीएम और कांग्रेस महासचिव अशोक गहलोत ने सरदारपुरा सीट पर बीजेपी के शंभुसिंह को हरा दिया है. यह दूसरा मौका है जब गहलोत ने शंभुसिंह को हराया है. इससे पहले साल 2013 के चुनाव में भी गहलोत ने उन्हें हराया था. हालांकि, गहलोत ने आरोप लगया कि बाहरी होने की वजह से जनता ने उन्हें वोट नहीं दिया है.Also Read - 12 दिसंबर को दिल्ली में होगी कांग्रेस की ‘महंगाई हटाओ रैली’, सोनिया और राहुल करेंगे संबोधित

अशोक गहलोत दो बार राजस्थान के सीएम रह चुके हैं. वह जोधपुर के सरदारपुरा सीट से लगातार चुनाव जीतते रहे हैं. इस दौरान दो बार से बीजेपी शंभुसिंह को उनके खिलाफ मैदान में उतारती रही है. शंभु सिंह ऐसे शख्स हैं जिन्होंने 60 के दशक में छात्रसंघ चुनाव में हराया था. ऐसे में उसी समीकरण को दोहराने के उद्देश्य से बीजेपी ने उन्हें मैदान में उतारा है. Also Read - Constitution Day: संविधान दिवस आज, संसद में होने वाले समारोह का कांग्रेस ने किया बहिष्कार, जानें वजह

हालांकि, राज्य की बात करें तो कहीं न कहीं कांग्रेस सबसे बड़ी पार्टी बनती नजर आ रही है. जयपुर में मीडिया से बात करते हुए गहलोत ने कहा कि रुझान बता रहे हैं कि मैंडेट कांग्रेस के पक्ष में रहा है. जनता कांग्रेस के साथ खड़ी है. उन्होंने स्पष्ट बहुमत पाने का दावा किया है. Also Read - Uttarakhand Assembly Election 2022: उत्तराखंड चुनाव में कितनी सीटें जीतेगी बीजेपी, पार्टी नेताओं ने खुद बताया

गहलोत ने कहा, मुझे विश्वास है कि कांग्रेस को बहुमत मिलेगी. उन्होंने कहा कि मैं अभी भी निर्दलीय विधायकों का समर्थन चाहता हूं. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हम जीत रहे हैं उसके बाद भी कह रहे हैं कि बीजेपी के अलावा जो पार्टियां हैं वह कांग्रेस का समर्थन करें.