Assam Assembly Election 2021: असम के मुख्य चुनाव अधिकारी (सीईओ) नितिन खाड़े ने शनिवार को कहा कि असम में तीन चरणों में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में 1.08 लाख संदेहपूर्ण मतदाताओं को मतदान करने की अनुमति नहीं होगी. राज्य विधानसभा चुनाव के तहत 27 मार्च, एक अप्रैल और छह अप्रैल को मतदान होगा. मतगणना दो मई को होगी. Also Read - Assam Assembly Election 2021: चुनाव के नतीजों से पहले ही कांग्रेस और AIUDF ने अपने उम्मीदवारों को भेजा राजस्थान

पिछले साल विधानसभा में उपलब्ध कराई गई संदेहपूर्ण मतदाताओं की संख्या 1.13 लाख थी. मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने जनवरी में राज्य के दौरे पर कहा था कि जिन लोगों के नाम राष्ट्रीय नागरिक पंजी (एनआरसी) में नहीं हैं, लेकिन मतदाता सूची में है, वे अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकते हैं. Also Read - Assembly Elections 2021: सभी पांच राज्यों में मतदान आज, असम में आखिरी और बंगाल में तीसरे चरण के लिए हो रही वोटिंग

संदेहपूर्ण मतदाता वैसे लोग हैं, जिनकी पहचान मतदाता सूची पुनरीक्षण के दौरान ‘डी-वोटर’ के रूप में की गई और जिनके खिलाफ विदेशी नागरिक अधिकरणों में मामले लंबित हैं या जिनहें अधिकरण ने विदेशी घोषित कर दिया है. खाड़े ने संवाददाता सम्मेलन में कहा कि केंद्रीय सशस्त्र अर्द्धसैनिक बलों की 40 कंपनियां चुनाव के दौरान तैनात की जाएंगी. Also Read - Assam Assembly Election 2021: एक बूथ पर मतदाता सूची में थे केवल 90 नाम, लेकिन पड़े 171 वोट; पांच अधिकारी निलंबित

उन्होंने कहा कि कुल 2,32,44,454 मतदाता अपने मताधिकार का इस्तेमाल कर सकेंगे.

(इनपुट भाषा)