Assam CM Himant Biswa Sarma: जिस 22 साल के लड़के ने अपनी 17 साल की गर्लफ्रेंड से किया था वादा और कहा था-अपनी मां को कह देना मैं एक दिन असम का सीएम बनूंगा और उसने बनकर दिखा दिया. अपनी गर्लफ्रेंड से पत्नी बनी रिनिकी भूयन से किया वादा पूरा किया. 17 साल की रिनिकी तब 22 साल के हिमंत से पूछा था कि मां पूछेंगी कि तुम क्या करते हो तो मैं क्या जवाब दूंगी. तब हिमंत ने कहा था कि अपनी मां से कह देना मैं एक दिन असम का सीएम बनूंगा औस सोमवार को वो कहा उन्होंने पूरा किया. असम के नए मुख्यमंत्री हिमंत बिस्व सरमा ने सालों पहले रिनिकी भुयन से यह बात कही थी जो बाद में उनकी पत्नी बनीं. आज 30 साल बाद उनकी यह बात सच हो गई है और वह आखिरकार असम के मुख्यमंत्री बन गए हैं. Also Read - Assam के CM बोले- जनसंख्‍या नीति शुरू हो चुकी है, इसे आप घोषणा मान सकते हैं, दो बच्‍चे वालों को मिलेगा फायदा

हिमंत की पत्नी रिनिकी भूयन ने बताया कि ये उस जमाने की बात है जब सरमा खुद कॉटन कॉलेज के छात्र थे और सरमा की पत्नी रिनिकी भुयन बताती हैं कि उनके पति कॉलेज के समय से ही मुख्यमंत्री बनने को लेकर आश्वस्त थे. उन्होंने बताया कि हिमंत छात्र जीवन से ही अपने लक्ष्य को लेकर फोकस्ड थे और जानते थे कि उनको भविष्य में क्या बनना है. Also Read - असम के मुख्यमंत्री की अल्पसंख्यक समुदाय से अपील, 'गरीबी कम करने के लिए उचित परिवार नियोजन नीति अपनाएं'

रिनिकी ने बताया, तब वह 22 साल के और मैं 17 साल की थी तब हमारी पहली मुलाकात हुई थी. मैंने उनसे पूछा था कि मैं अपनी मां को उनके भविष्य के बारे में क्या बताऊंगी? तब उन्होंने जवाब दिया था कि उनसे कह दो कि मैं असम का मुख्यमंत्री बनूंगा.’ उन्होंने बताया कि मैं भौंचक्क रह गई लेकिन बाद में महसूस हुआ कि जिस व्यक्ति से वह शादी करेंगी उसका राज्य को लेकर एक निश्चित लक्ष्य और सपना है, चट्टान की तरह प्रतिबद्धता है. Also Read - हेमंत बिस्वा सरमा बने असम के 15वें सीएम, पीएम मोदी ने दी बधाई

रिनिकी ने कहा, ‘जब हमारी शादी हुई तब वह विधायक थे, उसके बाद वह मंत्री बने और फिर राजनीति में बढ़ते चले गए, लेकिन आज मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते हुए देखकर मुझे विश्वास नहीं हो रहा है.’ उन्होंने कहा, ‘यहां तक कि कल रात हमारी बात हुई तो उन्होंने नामित मुख्यमंत्री का उल्लेख किया और जब मैंने पूछा ‘कुन (कौन) तब उन्होंने जवाब दिया ‘मुई’ (मैं). मेरे लिए वह हमेशा हिमंत रहे हैं और मैं उन्हें मुख्यमंत्री के साथ नहीं जोड़ सकती. इस शब्द से परिचित होने में कुछ समय लगेगा.’