गुवाहाटी: असम में बाढ़ से शनिवार को दो और लोगों की मौत हो गई और इससे 18 जिलों में 10.75 लाख लोग प्रभावित हुए हैं. एक सरकारी रिपोर्ट में यह जानकारी दी गई है. असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) ने अपने नियमित बुलेटिन में बताया कि मोरीगांव में बाढ़ से एक व्यक्ति की मौत हुई और एक अन्य व्यक्ति की मौत तिनसुकिया जिले में हुई है जिससे राज्य में मृतकों की संख्या 61 हो गई है, जिनमें से 37 लोगों की मौत बाढ़ के कारण और 24 लोगों की मौत लगातार हुई बारिश के कारण हुए भूस्खलन से हुई है. Also Read - Assam Flood: पटरी पर लौट रही जिंदगी, लेकिन अब भी 11 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित

लखीमपुर और बोंगाईगांव में शनिवार को बाढ़ का पानी कम हुआ है. धेमाजी, बिश्वनाथ, चिरांग, दारंग, नलबाड़ी, बारपेटा, कोकराझार, धुबरी, दक्षिण सालमारा, गोलपाड़ा, कामरूप, कामरूप मेट्रोपॉलिटन, मोरीगांव, नागांव, गोलाघाट, जोरहाट, डिब्रूगढ़ और तिनसुकिया जिले बाढ़ से प्रभावित है. बुलेटिन के अनुसार बारपेटा बाढ़ से बुरी तरह से प्रभावित है जहां 6.33 लाख से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं और इसके बाद दक्षिण सालमारा में लगभग 1.95 लाख लोग प्रभावित हैं. गोलपाड़ा में 83,300 से अधिक लोग प्रभावित हैं. Also Read - प्रियंका चोपड़ा, निक जोनास बिहार बाढ़ पीड़ितों की सहायता के लिए आए आगे, लोगों से की अपील 

इसमें कहा गया है कि पिछले 24 घंटे में तीन जिलों में एसडीआरएफ, जिला प्रशासन और स्थानीय लोगों ने 1,046 लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाया है. जिला प्रशासन ने आठ जिलों में 171 राहत शिविर और वितरण केन्द्र स्थापित किये हैं जहां इस समय 6,531 लोग शरण लिये हुए है. Also Read - Flood In Assam And Bihar: असम और बिहार में बाढ़ से राहत नहीं, लाखों लोगों की जिंदगी पर पड़ रहा इसका असर