नई दिल्ली: असम इन दिनों बाढ़ की मार झेल रहा है. इस दौरान राज्य के आपदा प्रबंधन विभाग ने ने बताया कि असम के 26 जिले अब बाढ़ की चपेट में आ चुके हैं. वहीं इससे 26,31,343 लोग प्रभावित हुए हैं. उन्हें एक स्थान से दूसरे स्थान सुरक्षित ले जाया गया है. वहीं बाढ़ की चपेट में आने से अबतक 89 लोगों कीम मौत हो चुकी है. Also Read - केरल में जिंदगी पर भारी पड़ा लैंडस्‍लाइड, 70 से ज्‍यादा मजदूर मलबे में फंसे, कई लाशें बरामद

आपदा प्रबंधन विभाग ने बताया कि बाढ़ का असर सीधे तौर पर खेती पर हुआ है. इसका असर 1,15,515.25 हेक्टेयर भूमि पर उगाई गई फसल पर इसका असर होगा. वहीं जानवरों को लेकर विभाग ने बताया कि काजीरंगा नेशनल पार्क में अबतक 120 जानवरों की मौत हो चुकी है. बता दें कि असम में कई लाख लोगों को एक जगह से दूसरे जगह हटाया जा चुका है. भारी बारिश के कारण यहां काफी तबाही देखने को मिल रही है. जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. Also Read - देश में कहीं सूखा, कहीं बाढ़: कई जगह पानी ही पानी, राजस्थान कर रहा ढंग की बारिश का इंतज़ार

यही नहीं यहां के नेशनल पार्क भी लगभग 90 प्रतिशत तक डूब चुके हैं. बाढ़ के कारण इंसानों सहित मवेशियों और एक सिंगे गेडों की भी मौत हो चुकी है. अबतक 5 एक सिंगे गेंडे की मौत हुई है. हालांकि एनडीआरएफ की टीमें असम में तैनात हैं. बाढ़ से राहत बचाव का कार्य लगातार जारी है. वहीं 147 को अभी रेस्क्यू किया गया है. बता दें कि असम में 391 रीलीफ कैंप्स में 45,281 लोग रह रहे हैं. बता दें कि केंद्र सरकार द्वारा असम को राहत देने के लिए मुआवजे का ऐलान किया गया है. पहले चरण में असम को 346 करोड़ रुपये दिए जाएंगे. ताकि निचले हिस्सों में बाढ़ की समस्या से छुटकारा पाया जा सके.