गुहावटी| असम में बाढ़ से हालात खराब है. अभी तक 44 लोगों की जान जा चुकी है. करीब 17.2 लाख लोग बाढ़ से प्रभावित हैं. राज्य के 24 जिले बाढ़ की चपेट में हैं. बाढ़ का असर इंसानों के साथ-साथ जानवरों पर पड़ रहा है. गैंडों के लिए मशहूर काजीरंगा नैशनल पार्क आधा डूब चुका है. पार्क के जानवरों को बाढ़ से बचाने का प्रयास जारी है. असम के मुख्यमंत्री सरबानंद सोनोवल ने काजीरंगा नेशनल पार्क का दौरा किया.Also Read - राज्यसभा के लिए निर्विरोध चुने गए केंद्रीय मंत्री सोनोवाल और TMC लीडर सुष्मिता देव

Also Read - कैबिनेट कमेटियों में बदलाव- स्मृति, भूपेंद्र, सोनोवाल इस अहम समिति के सदस्य बने

पीएम मोदी ने पूर्वोत्तर के विभिन्न क्षेत्रों में बाढ़ की स्थिति पर चिंता व्यक्त की है. उन्होंने केंद्र की ओर से हरसंभव मदद का वादा किया. मोदी ने कहा कि उन्होंने गृह राज्य मंत्री किरण रिजिजू से व्यक्तिगत रूप से राहत एवं बचाव कार्य का निरीक्षण करने और हरसंभव मदद सुगम बनाने को कहा है. मोदी बाढ़ की स्थिति पर करीब से नजर बनाए हुए हैं. इसके लिए उन्होंने अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू तथा दिल्ली एवं राज्यों के अधिकारियों से बात भी की. Also Read - Assam New CM: सस्पेंस खत्म, हेमंत बिस्वा सरमा होंगे असम के अगले मुख्यमंत्री; चुने गए विधायक दल के नेता

असम राज्य आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एएसडीएमए) के अधिकारियों के मुताबिक बीते 24 घंटों में अलग-अलग हादसों में पांच लोगों की मौत हुई. एएसडीएमए ने बताया कि 17 लाख 18 हजार 135 लोग बाढ़ से प्रभावित हुए हैं.

31 हजार लोगों के लिए 294 राहत शिविर लगाए गए हैं. राहत दल राहत एवं बचाव कार्य में लगे हैं और अब तक 2 हजार से ज्यादा लोगों को बचाया गया है.
(एजेंसी इनपुट के साथ)