गुवाहाटी: सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने असम पंचायत चुनाव में अब तक घोषित परिणाम में विपक्षी पार्टी कांग्रेस के मुकाबले 50 फीसदी ज्यादा सीटें जीती है. राज्य चुनाव आयोग के सूत्रों ने गुरुवार को यह जानकारी दी. भाजपा ने गांव पंचायत सदस्य (जीपीएम) की 7,768 सीट, आंचलिक पंचायत सदस्य (एपीएम) की 653 सीट और जिला परिषद सदस्य (जेडपीएम) की 223 सीटों पर जीत हासिल की. वहीं पार्टी ने अब तक गांव पंचायत अध्यक्ष (जेडपीएम) की 605 सीटों पर जीत हासिल की. Also Read - Kerala Election: क्या मेट्रोमैन Sreedharan नहीं होंगे केरल में CM पद के उम्मीदवार? जानें केंद्रीय मंत्री ने क्या कहा....

Also Read - VIDEO: TMC से BJP में शामिल होने के बाद मंच पर ही 'उठक-बैठक' करने लगे नेता, वजह भी बताई

विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने यहां जीपीएम की 3,948 सीट, एपीएम की 365 सीट, जेडपीएम की 131 सीट और जीपीपी की 293 सीटें जीती है. राज्य में पांच दिसंबर से नौ दिसंबर के बीच 21,990 जीपीएम, 2,199 एपीएम, 420 जेडपीएम और 2,199 जेपीपी चुनने के लिए चुनाव आयोजित किया गया था. राज्य के निर्वाचन आयुक्त एच एन बोरा के मुताबिक, 26,808 पदों के लिए बुधवार से ही मतगणना जारी है. आज यानी शुक्रवार का भी पूरा दिन लग सकता है. पंचायत चुनाव में मत पत्रों का इस्तेमाल किया गया था. Also Read - Assam Assembly Election 2021: कांग्रेस का वादा- सरकार बनी तो नौकरियों में महिलाओं को देंगे 50 प्रतिशत आरक्षण

भाजपा जीत चुकी है 9231 सीटें

राज्य के निर्वाचन आयुक्त एच एन बोरा के मुताबिक, भाजपा ने गांव पंचायत सदस्य (जीपीएम) की 7,768 सीट, आंचलिक पंचायत सदस्य (एपीएम) की 653 सीट और जिला परिषद सदस्य (जेडपीएम) की 223 सीटों पर जीत हासिल की. वहीं पार्टी ने अब तक गांव पंचायत अध्यक्ष (जेडपीएम) की 605 सीटों पर जीत हासिल की.

Assam Panchayat Election Result 2018: शुरुआती काउंटिंग में भाजपा को भारी बढ़त

रविवार को समाप्‍त हुआ था मतदान

बता दें कि असम में रविवार को दूसरे चरण का पंचायत चुनाव होने के साथ मतदान समाप्‍त हो गया था. उस दिन करीब 75 फीसदी वोटर्स ने शांतिपूर्ण तरीके से अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया था. राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी एचएन बोरा ने बताया था कि कछार, करीमगंज और नलबारी जिलों से तीन शिकायतों को छोड़कर मतदान शांतिपूर्ण रहा. कछार और करीमगंज के आठ और नलबारी के एक मतदान केंद्र पर मंगलवार को पुनर्मतदान करवाया गया था. इस चुनाव में 78 हजार से अधिक उम्मीदवारों के भाग्य के फैसले होंगे. दोनों चरणों को मिलाकर कुल 82 फीसदी मतदान हुआ है. राज्य में पंचायत चुनाव का पहला चरण 16 जिलों में पांच दिसंबर को हुआ था. उसमें 81.5 फीसद मतदान हुआ था.