गुवाहाटी: असम में लगाया गया कर्फ्यू मंगलवार को हटा लिया गया है और यहां ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर दिया गया है. स्थानीय अधिकारियों ने कहा लगभग एक हफ्ते से लगाया गया कर्फ्यू हटा दिया गया है, क्योंकि फिलहाल राज्य की स्थिति में सुधार हुआ है. असम में नागरिकता संशोधन अधिनियम (सीएए) के विरोध में हिंसक विरोध प्रदर्शन होने के बाद एहतियात के तौर पर कर्फ्यू लगाया गया था और इंटरनेट सेवाओं को बंद कर दिया गया था. सीएए के खिलाफ बड़े पैमाने पर हिंसक विरोध के बाद 11 दिसंबर को गुवाहाटी, डिब्रूगढ़, जोरहाट, तिनसुकिया और असम के कुछ अन्य शहरों में कर्फ्यू लगाया गया था और सेना तैनात की गई थी.

गृह विभाग के एक अधिकारी ने कहा, “असम के मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की अध्यक्षता में सोमवार की देर शाम कानून व्यवस्था की समीक्षा बैठक में गुवाहाटी से कर्फ्यू हटाने का फैसला लिया गया है. डिब्रूगढ़ में मंगलवार सुबह छह बजे से कर्फ्यू में 14 घंटे की ढील दी गई है. बाद में शाम को स्थिति की समीक्षा की जाएगी” उन्होंने कहा कि लैंड-फोन आधारित ब्रॉडबैंड इंटरनेट सेवाओं को बहाल कर दिया गया है, लेकिन मोबाइल इंटरनेट का निलंबन बुधवार सुबह नौ बजे तक जारी रहेगा.

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, सरकारी और निजी कार्यालय, बैंक और व्यावसायिक प्रतिष्ठान खुले रहेंगे. गुवाहाटी और अन्य सभी प्रमुख शहरों व कस्बों में वाहन भी पहुंच रहे हैं. हालांकि 22 दिसंबर तक कामरूप मेट्रो सहित असम के कुछ स्थानों पर स्कूल बंद रहेंगे. पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे (एनएफआर) के मुख्य जनसंपर्क अधिकारी सुभानन चंदा ने कहा कि राज्य में ट्रेन सेवाओं को पूरी तरह से सामान्य करने के लिए सभी प्रयास जारी हैं. उन्होंने कहा कि मंगलवार को असम में 11 स्थानीय लोकल पैसेंजर व इंटर सिटी ट्रेनें चल रही हैं.

एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया (एएआई) के क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक संजीव जिंदल ने कहा कि रविवार से पूर्वोत्तर भारत के सभी 10 हवाई अड्डों पर उड़ान सेवाएं पूरी तरह से चालू हैं, जिनमें असम के छह और त्रिपुरा, मणिपुर, नागालैंड व मिजोरम स्थित एक-एक हवाई अड्डा शामिल है.