नई दिल्लीः हरियाणा के सभी नब्बे सीटों के शुरुआती रुझान आ चुके हैं और यह इन नतीजों में गौर किया जाए तो यह राज्य में मौजादा सरकार की चिंता को बढ़ाने वाले हैं. ताजा नतीजों के आधार पर सरकार के कुल सात मंत्री पीछे चल रहे हैं. आज से पहले यह माना जा रहा था कि भाजपा की एकतरफा जीत होगी और कांग्रेस को करारी शिकस्त मिलेगी. अगर पिछले विधानसभा चुनाव से तुलना किया जाए तो इस बार हरियाणा में भाजपा की कंडीशन कुछ कमजोर नजर आ रही है और इसी का नतीजा है कि मंत्री कैप्टन अभिमन्यु सहित सरकार के सात मंत्री अपनी सीट से पीछे चल रहे हैं.

अभी वोटों की गिनती जारी है और कभी भाजपा को बहुमत मिल रहा है तो कभी कांग्रेस भाजपा के करीब आते हुए दिख रही है. हरियाणा में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सुभाष बराला भी टोहना सीट से पीछे चल रहे हैं. राज्य में भाजपा और कांग्रेस के बाद तीसरी सबसे बड़ी पार्टी जननायक जनता पार्टी इस समय 10 सीटों में बढ़त बनाए हुए है.

#Haryana Assembly Election 2019: हरियाणा की विधानसभा सीटों के Live Updates जानने के लिए यहां करें क्लिक

अभी तक के नतीजों को देखकर ऐसा लग रहा है कि राज्य में त्रिशंकु सरकार बन सकती है और यदि ऐसा होता है तो दुष्यंत चौटाला की जननायक जनता पार्टी प्रदेश में प्रमुख रोल निभाएगी. अगर भाजपा को बहुमत नहीं हासिल होता तो दूसरी पार्टियों को सरकार बनाने के लिए जेजेपी से हाथ मिलाना पड़ेगा. ऐसे में दूसरी राजनीतिक पार्टियों के लिए सरकार बनाने के लिए चाबी दुष्यंत चौटाला के पास ही रहेगी.

मौजूदा नतीजों के आधार पर कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों को राज्य में सरकार बनाने के लिए दुष्यंत चौटाला का साथ लेना पड़ेगा अब ऐसे में देखना यह दिलचस्प होगा कि कौन सी चौटाला किस पार्टी के साथ जाते हैं.