नई दिल्ली: दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने रविवार को लोगों से आगामी विधानसभा चुनाव में आम आदमी पार्टी (आप) की मदद करने की अपील की. उन्होंने कहा कि चुनाव लड़ने के लिए ‘आप’ के पास पैसे नहीं है. उन्होंने यह भी कहा कि वह अनधिकृत कॉलोनियों में मकानों की रजिस्ट्री का कार्य कराएंगे और लोग अपनी जमीन की रजिस्ट्री के दस्तावेज हाथ में आने तक किसी पर भरोसा नहीं करें.

यहां जारी बयान के मुताबिक उत्तरी दिल्ली के बुराड़ी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा, ‘‘ गत पांच साल में हमने दिल्ली में बहुत काम किए. हमारे पास चुनाव लड़ने के लिए पैसे नहीं है, मैंने पिछले पांच साल में एक रुपये की भी कमाई नहीं की, वे आप हैं जो मेरे लिए चुनाव लड़ेंगे.’’

भाजपा लोगों को भ्रमित करने के लिए अजित पवार का इस्तेमाल कर रही : अशोक चव्हाण

केजरीवाल ने आरोप लगाया कि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करना चाहती है, लेकिन रजिस्ट्री की अनुमति नहीं देना चाहती. उन्होंने अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले भाजपा नेतृत्व वाली केंद्र सरकार द्वारा अनधिकृत कॉलोनियों के लोगों को मालिकाना हक देने के पीछे की मंशा पर भी सवाल उठाए.

केजरीवाल ने कहा, ‘‘चर्चा है कि केंद्र सरकार अनधिकृत कॉलोनियों को नियमित करेगी. मैं पूछना चाहता हूं कि उन्होंने पिछले पांच साल में यह क्यों नहीं किया जब मैं इन कॉलोनियों में सड़क, सीवर और पेयजल आपूर्ति की स्थिति में सुधार कर रहा था?’’ केजरीवाल ने दिल्ली की अनधिकृत कॉलोनियों के विकास के लिए कथित तौर पर कुछ भी नहीं करने के लिए विपक्षी पार्टियों पर भी हमला बोला.

महाराष्ट्र की अगली बड़ी चुनौती होगी विधानसभा अध्यक्ष का चुनाव

उल्लेखनीय है कि केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी ने शनिवार को कहा था कि अनधिकृत कॉलोनियों के निवासी मकानों के मालिकाना अधिकार के लिए 16 दिसंबर से आवेदन कर सकेंगे और आवेदन से 180 दिनों के भीतर उन्हें स्वामित्व प्रमाण पत्र जारी कर दिया जाएगा.