नई दिल्ली: राजस्थान में मुख्यमंत्री के चयन को लेकर चल रहे गतिरोध के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक गुरुवार सुबह आरंभ हुई जिसमें मुख्यमंत्री कौन होगा, पर अंतिम निर्णय हो सकता है. पार्टी के एक वरिष्ठ नेता के मुताबिक अशोक गहलोत और सचिन पायलट खेमों के बीच मुख्यमंत्री पद को लेकर चल रही कथित खींचतान के बीच गांधी यह बैठक कर रहे हैं. गांधी के आवास 12 तुगलक लेन पर चल रही इस बैठक में राजस्थान के प्रभारी महासचिव अविनाश पांडे और पर्यवेक्षक की भूमिका निभा रहे वरिष्ठ नेता केसी वेणुगोपाल मौजूद हैं. Also Read - Rajasthan Night Curfew: गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, राजस्थान में खत्म हुआ Night Curfew

Also Read - पाक से राजस्थान आए करीब 700 लोग 'लापता', केंद्र ने राज्य सरकार को दिए तलाशने के निर्देश

राहुल गांधी बोले- कार्यकर्ताओं और विधायकों से ले रहे हैं सलाह, जल्द होगा सीएम का एलान Also Read - Rajasthan School Reopen Latest Update: राजस्थान में 18 जनवरी से खुल जाएंगे स्कूल, निकाय चुनाव की तारीख भी तय

कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बुधवार रात कहा था, ‘यह सच है कि मुख्यमंत्री पद को लेकर गतिरोध है. राहुल गांधी गुरुवार को बैठक करेंगे. इसमें राहुल जी को नवनिर्वाचित विधायकों की राय से अवगत कराया जाएगा. इसी बैठक में मुख्यमंत्री को लेकर फैसला होने की प्रबल संभावना है.

मध्य प्रदेश भाजपा के सामने सबसे बड़ा संकट- करिश्माई शिवराज के बाद कौन?

इससे पहले, जयपुर में कांग्रेस नेताओं ने बुधवार शाम राज्यपाल कल्याण सिंह से मिलकर सरकार बनाने का औपचारिक दावा पेश किया. पार्टी के नवनिर्वाचित विधायकों की बैठक भी हुई जिसमें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी को राज्य के नए मुख्यमंत्री के नाम का फैसला करने के लिए अधिकृत दिया. राज्य की 200 सीटों वाली विधानसभा में 199 सीटों पर चुनाव हुआ है. इसमें कांग्रेस के हिस्से में 99 सीटें आई हैं.

…और इस तरह वसुंधरा राजे से कुर्सी छिनते ही अकेली पड़ गईं ममता बनर्जी

दूसरी ओर राजस्थान, मध्य प्रदेश और छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री पद के लिए संभावित उम्मीदवारों में चल रही खींचतान के बीच कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को कहा कि पार्टी विधायकों और कार्यकर्ताओं की राय ले रही है और नामों की जल्द ही घोषणा की जाएगी. गांधी ने तीन राज्यों के लिए पार्टी के मुख्यमंत्रियों के चुनाव के मद्देनजर अपने आवास पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ विचार-विमर्श किया. उन्होंने पत्रकारों से कहा, ‘आप जल्द ही मुख्यमंत्रियों को देखेंगे. हम विधायकों, पार्टी कार्यकर्ताओं और अन्यों की राय ले रहे हैं.

विधानसभा चुनाव 2018: क्या चुनावी वादों पर खरा उतर पाएगी कांग्रेस? तुरंत चाहिए 41 हजार करोड़

पिछले 24 घंटे में गांधी की ओर से एक ऑडियो संदेश तीनों राज्यों में 7.3 लाख पार्टी कार्यकर्ताओं को भेजा गया जिसमें उनसे मुख्यमंत्री पद के लिए उनकी राय पूछी गई. ऑडियो संदेश में उन्हें तीन मुख्य राज्यों में विधानसभा चुनाव में पार्टी की जीत के लिए नेताओं को बधाई देते हुए सुना गया. उन्होंने कहा, ‘अब मैं आपसे एक अहम सवाल पूछना चाहता हूं : किसे मुख्यमंत्री बनना चाहिए? कृपया एक नाम बताए. आप जो नाम बताएंगे उसके बारे में केवल मुझे ही पता होगा. पार्टी में किसी को भी यह पता नहीं चलेगा.