नई दिल्‍ली: भारतीय जनता पार्टी की केंद्र में नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व में दूसरी बार सरकार बनने के बाद उसकी सदस्‍य संख्‍या में भारी इजाफा हुआ है. भाजपा पहले ही दुनिया की सबसे बड़ी सदस्‍य संख्‍या वाली राजनीतिक पार्टी बन चुकी है लेकिन गुरुवार को पार्टी के कार्यकारी अध्‍यक्ष ने दावा किया बीजेपी में नए सदस्‍यों के जुड़ने से पार्टी मेम्‍बरों की इतने संख्‍या हो गई है कि उसके सदस्‍यों की संख्‍या से दुनिया के सिर्फ 8 देशों की आबादी ही ज्‍यादा है. अब भाजपा में कुल मिलाकर 18 करोड़ सदस्‍य हैं.

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने गुरुवार को सदस्यता अभियान की जानकारी देते हुए कहा कि इस बार भाजपा की सदस्यता में 7 करोड़ की वृद्धि होने जा रही है. 11 करोड़ सदस्यों में इन सदस्यों के जुड़ने से अब पार्टी के सदस्यों की संख्या 18 करोड़ होगी.

नड्डा ने भाजपा मुख्यालय में मीडियाकर्मियों से कहा कि पहले हमारी (भाजपा की) सदस्य संख्या 11 करोड़ थी. इस बार सदस्यता अभियान के दौरान 5 करोड़ 81 लाख 34 हजार 242 लोगों ने ऑनलाइन माध्यम से सदस्यता ली. यह पिछली सदस्य संख्या का 50 प्रतिशत से ज्यादा है.

बीजेपी के कार्यकारी अध्‍यक्ष ने कहा कि 62 लाख 35 हजार 967 लोगों ने ऑफलाइन माध्यम से सदस्यता ली है और बड़ी संख्या में मिस्ड काल के माध्यम से भी सदस्यता ली गई है. इन सभी आंकड़ों को जोड़ लें तब यह संख्या 7 करोड़ हो जाएगी. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बूथ का चुनाव हमारे यहां 10 अक्टूबर से 30 अक्टूबर तक चलेगा, नवंबर में जिला इकाइयों का चुनाव होगा और उसके बाद राज्य के चुनाव होंगे. उन्होंने कहा कि संगठन का राष्ट्रीय स्तर का चुनाव दिसंबर महीने में होगा.

नड्डा ने कहा कि पार्टी सदस्यता अभियान का शुभारंभ 6 जुलाई को वाराणसी से प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने किया था. इसकी समाप्ति 20 अगस्त को हुई. ये एक सफल अभियान रहा है. उन्होंने कहा कि मिस्ड काल से जुड़ी सदस्यता के बारे में जहां सर्वर वीक था, वहां के आंकड़े आने बाकी हैं.

भाजपा के कार्यकारी अध्यक्ष ने बताया कि सदस्यता अभियान के दौरान सभी वर्गों में रुझान देखा गया. सेना के अफसर, खिलाड़ी और समाज के सभी वर्ग के लोगों ने भाजपा में शामिल होने में अपनी रुचि दिखाई.

नड्डा ने कहा, ”पश्चिम बंगाल और जम्मू-कश्मीर में भी भाजपा की सदस्यता को लेकर विशेष रुझान दिखा. उन्होंने कहा कि हमारा सदस्यता अभियान तो समाप्त हो गया है, लेकिन सदस्यता की प्रक्रिया चलती रहेगी.” नड्डा ने बताया कि अब सितंबर में सक्रिय सदस्य बनाने का अभियान शुरू होगा.