नई दिल्ली: चीन CHINA ने न्यूयार्क में बुधवार को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (UNSC) की बंद कमरे में हुई बैठक में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाने की कोशिश की, लेकिन उसकी यह कोशिश नाकाम होने की संभावना है, क्योंकि संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद् (UNSC) के अन्य सभी देश इसका विरोध करने वाले हैं. पाकिस्‍तान के लिए चीन ने यूएनएससी में यह कोशिश एक महीने बाद फिर से की है. Also Read - खुलेगा बातचीत का रास्ता! भारत-पाकिस्तान ने संघर्षविराम समझौतों का पालन करने पर जताई सहमति

फ्रांसीसी कूटनीतिक सूत्रों ने बताया कि फ्रांस ने इस शक्तिशाली संस्था में एक बार फिर कश्मीर मुद्दा उठाने के लिए यूएनएससी के एक सदस्य देश के अनुरोध पर गौर किया है और वह इसका विरोध करने जा रहा है, जैसा कि उसने पहले के एक मौके पर किया था. Also Read - UNHRC में india ने Pakistan को दिखाया आईना- भारत पर उंगली उठाने से पहले अपनी गिरेबान में झांके

अफ्रीकी देशों से जुड़े मुद्दे पर चर्चा के लिए सुरक्षा परिषद् की बंद कमरे में बैठक बुलाई गई. चीन ने ‘कोई अन्य कामकाज बिंदु’ के तहत कश्मीर मुद्दे पर चर्चा का अनुरोध किया. Also Read - India ने Imran Khan के एयरक्राफ्ट को श्रीलंका जाने के लिए अपने एयरस्‍पेस का उपयोग करने की इजाजत दी

सूत्रों ने बताया कि फ्रांस का रुख नहीं बदला है और यह बहुत स्पष्ट है कि कश्मीर मुद्दे का हल अवश्य ही द्विपक्षीय तरीके से किया जाए. यह बात कई मौकों पर कही गई है और संरा सुरक्षा परिषद् में साझेदारों से इसे दोहराता रहेगा.

बता दें पिछले महीने फ्रांस, अमेरिका, ब्रिटेन और रूस ने यूएनएससी की बंद कमरे में हुई एक बैठक में कश्मीर मुद्दा पर चर्चा कराने की चीन की कोशिश नाकाम कर दी थी. जम्मू कश्मीर का भारत द्वारा पुनर्गठन किया जाना चीन को नागवार गुजरा है.