नई दिल्ली: पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की आज पहली पुण्यतिथि है. इस मौके पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके कैबिनेट के सहयोगियों ने उनके समाधि स्थल ‘सदैव अटल’ जाकर श्रद्धांजलि दी. वाजपेयी का 16 अगस्त 2018 को निधन हो गया था. वह लंबे समय से बीमार थे. वाजपेयी 1998 से 2004 तक लगातार छह सालों तक देश के प्रधानमंत्री रहे. 2004 का चुनाव हारने के कुछ ही समय बाद उनकी तबियत बिगड़ गई थी. तक से वाजपेयी पूरी तरह से निष्क्रिय हो गए थे.

कवि ह्रदय और प्रखर वक्ता अटल बिहारी वाजपेयी का 93 वर्ष की आयु में निधन पिछले साल निधन हो गया था. वाजपेयी को देश में पहली पूर्ण गैर कांग्रेसी सरकार बनाने का श्रेय दिया जाता है. वाजपेयी ने ही देश में गठबंधन की राजनीति को सफल बनाया था. शुक्रवार को केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह भी उन्हें श्रद्धांजलि देने सदैव अटल स्थल पहुंचे. वाजपेयी भाजपा के संस्थापक अध्यक्ष थे. उन्होंने जनसंघ से अपनी राजनीति की शुरुआत की थी.