नई दिल्ली: जम्मू कश्मीर के पुलमावा में आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हुए केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि हमला कायरता और आतंकवादियों की निंदनीय कार्रवाई है. राष्ट्र शहीदों को नमन करता है और हम शहीदों के परिवारों के साथ खड़े हैं. उन्होंने कहा कि हम घायलों के शीघ्र स्वास्थ्य लाभ की प्रार्थना करते हैं. आतंकवादियों को उनके जघन्य कृत्य के लिए न भूलने वाला सबक सिखाया जाएगा. राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल घटना पर नजर बनाए हुए हैं.

कश्मीर में CRPF के काफिले पर भीषण आतंकी हमला, 18 जवान शहीद, कई घायल

सीआरपीएफ के सीनियर अधिकारी उन्हें हालात के बारे में अवगत करा रहे हैं. गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कल जम्मू-कश्मीर के दौरे पर जाएंगे. उन्होंने राज्यपाल सत्यपाल मलिक से बात की और ताजा हालात का जायजा लिया. गृहमंत्रालय घटना पर नजर रखे हुए है. राज्यपाल के सलाहकार के विनय कुमार ने बताया कि जहां तक जवानों की शहादत की बात है मुझे बताया गया कि शुरू में यह 18 था और 3 लोगों को गंभीर हालत में अस्पताल ले जाया गया था. तो, यह 20 हो सकता है, लेकिन मैं केवल टेलीफोनिक रिपोर्टों पर आधारित हूं जो मुझे क्षेत्र से मिल रहा है.

पुलवामा आतंकी हमला: राहुल गांधी, उमर अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती सहित इन नेताओं ने की कड़ी निंदा

वहीं बीजेपी का कहना है कि भारत इस पर चुप नहीं बैठेगा और पाकिस्तान पोषित आतंकवादियों एवं उसके आकाओं को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा, ‘‘हम इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा करते हैं और इस पर चैन से नहीं बैठेंगे. आतंकवाद और आतंकियों के खिलाफ लड़ाई और सख्त होगी. उन्होंने कहा कि इस आतंकी घटना को अंजाम देने वालों पर सख्त कार्रवाई होगी.

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में बृहस्पतिवार को जैश-ए-मोहम्मद के एक आतंकवादी ने विस्फोटकों से लदे वाहन से सीआरपीएफ जवानों की बस को टक्कर मार दी, जिसमें कम से कम 18 जवान शहीद हो गये. अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि जैश-ए-मोहम्मद ने इस घटना की जिम्मेदारी ली है. भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि आतंकवादियों के आका पाकिस्तान और आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद को इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा. हुसैन ने कहा कि जम्मू कश्मीर में आतंकवादियों के खिलाफ ‘आपरेशन आल आउट’ चलाया गया था और आतंकवादियों का सेना ने सफाया करने का काम किया . अब पाकिस्तान, आईएसआई और बचेखुचे आतंकवादियों ने यह साजिश की है.