नई दिल्ली: दिल्ली वालों पर जल्दी ही महंगाई की मार पड़ने वाली है. दिल्ली सरकार का परिवहन विभाग शहर में ऑटो किराये में संशोधन के लिए एक समिति का गठन कर सकती है. जानकारी के मुताबिक परिवहन मंत्री कैलाश गहलोत को एक आवेदन मिला था, उन्होंने कहा , ‘‘ मंत्री ने एक समिति का गठन करने का आदेश दिया है जो ऑटो किराये में बढ़ोतरी के बारे में सुझाव देगी. समिति का गठन अभी किया जाना है. ’’Also Read - Kerala Lockdown Unlocks: केरल आज से कुछ प्रत‍िबंधों के साथ अनलॉक, Weekends में फुल लॉकडाउन

जानकारी के मुताबिक किराया बढ़ाने के लिए दो प्रस्ताव सामने आए हैं. इसमें एक प्रस्ताव ऑटो का किराया 8 रुपये प्रति किलोमीटर से बढ़ा दिया जाए. वहीं दूसरा प्रस्ताव वेटिंग चार्ज का नया स्लैब तैयार कर इसे 60 रुपये से अधिक प्रति घंटा कर दिया जाए. इसे सरल भाषा में समझा जाए तो जाम में फंसने पर कम से कम प्रति घंटा के हिसाब से चार्ज लिया जाए. Also Read - Lockdown 4.0: केजरीवाल ने दिए संकेत, दिल्ली में 17 मई के बाद सार्वजनिक परिवहन किया जा सकता है शुरू

हालांकि अभी यह निश्चित नहीं हो सका है कि किराया बढ़ाने के लिए कौन सा रास्ता निकाला जाएगा. सरकार द्वारा बनाई जाने वाली इस समिति में ऑटो चालक भी शामिल होंगे. यह समिति किराया बढ़ाने पर जल्द फैसला लेगी. जानकारी के मुताबिक गहलोत ने कुछ दिनों पहले अधिकारियों के साथ बैठक की. वहीं परिवहन विभाग ने इस मसले पर शुक्रवार को भी एक अहम बैठक बुलाई है. Also Read - देश में फिर शुरू होने जा रहा पब्लिक ट्रांसपोर्ट, तैयारियों में जुटी सरकार, जानें कब से नियम होंगे लागू

बता दें कि दिल्ली में इस समय तकरीबन 90 हजार ऑटो-रिक्शा चल रहे हैं. हालांकि लोग अकसर ऑटो वालों के बारे में शिकायतें भी करते रहते हैं. अधिकतर लोगों का कहना है कि ऑटो रिक्शा ड्राइवर मीटर से नहीं चलते और अपनी मनमानी करते हैं. वहीं भारतीय मजदूर संघ से जुड़ी ऑटो यूनियन के राजेंद्र सोनी का कहना है कि 5 मई 2013 के बाद से ऑटो का किराया नहीं बढ़ा है लिहाजा इसे बढ़ाया जाना चाहिए.

-इनपुट भाषा