नई दिल्ली: सरकार ने भारतीय विमानन कंपनियों को अतिरिक्त ढील देते हुए कोविड-19 से पहले के स्तर की तुलना में 60 प्रतिशत क्षमता के साथ घरेलू उड़ानों को संचालित करने की बुधवार को अनुमति दे दी. इस संबंध में एक आधिकारिक आदेश जारी किया.Also Read - MP: महू छावनी में कोरोना से संक्रमित 7 और लोग मिले, 48 घंटे में नए मरीजों की संख्‍या 37 पर पहुंची

इससे पहले नागर विमानन मंत्रालय ने 26 जून को विमानन कंपनियों को कोविड-19 से पहले की अधिकतम 45 प्रतिशत क्षमता के साथ उड़ानें संचालित करने की अनुमति दी थी. Also Read - UNGA के 76वें सत्र को आज संबोधित करेंगे पीएम मोदी, वंदे मातरम-भारत माता की जय से गूंजा न्यूयॉर्क, देखें वीडियो

देश में 25 मार्च को लगाए गए लॉकडाउन के चलते विमानन सेवाओं पर रोक लग गई थी. बाद में 25 मई को घरेलू उड़ानों को 33 प्रतिशत की क्षमता के साथ शुरू किया गया था. हालांकि देश में नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर अब भी पाबंदी है. Also Read - IPL 2021: टी नटराजन की जगह सनराइजर्स हैदराबाद में शामिल हुए जम्मू-कश्मीर के उमरान मलिक

मंत्रालय ने 26 जून के आदेश को संशोधित करते हुए 45 प्रतिशत क्षमता के स्थान पर 60 प्रतिशत क्षमता के साथ उड़ानें परिचालित करने की अनुमति दे दी.

देश में 25 मई से घरेलू उड़ानें दोबारा शुरू किए जाने के बाद से वे औसतन 50 से 60 प्रतिशत क्षमता के साथ ही उड़ान भर रही हैं.