नई दिल्ली: सरकार ने भारतीय विमानन कंपनियों को अतिरिक्त ढील देते हुए कोविड-19 से पहले के स्तर की तुलना में 60 प्रतिशत क्षमता के साथ घरेलू उड़ानों को संचालित करने की बुधवार को अनुमति दे दी. इस संबंध में एक आधिकारिक आदेश जारी किया. Also Read - Coronavirus in Chhattisgarh: छत्तीसगढ़ में कोरोना वायरस के 2,942 नए मामले, संक्रमितों की कुल संख्या 1 लाख के करीब

इससे पहले नागर विमानन मंत्रालय ने 26 जून को विमानन कंपनियों को कोविड-19 से पहले की अधिकतम 45 प्रतिशत क्षमता के साथ उड़ानें संचालित करने की अनुमति दी थी. Also Read - Coronavirus in Madhya Pradesh: मध्य प्रदेश नहीं थम रही कोरोना की रफ्तार, संक्रमण के 2,304 नए मामले, 45 लोगों की मौत

देश में 25 मार्च को लगाए गए लॉकडाउन के चलते विमानन सेवाओं पर रोक लग गई थी. बाद में 25 मई को घरेलू उड़ानों को 33 प्रतिशत की क्षमता के साथ शुरू किया गया था. हालांकि देश में नियमित अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर अब भी पाबंदी है. Also Read - कोरोना संक्रमित मनीष सिसोदिया को डेंगू भी, प्लेटलेट्स घटने पर LNJP से मैक्‍स अस्‍पताल में शिफ्ट

मंत्रालय ने 26 जून के आदेश को संशोधित करते हुए 45 प्रतिशत क्षमता के स्थान पर 60 प्रतिशत क्षमता के साथ उड़ानें परिचालित करने की अनुमति दे दी.

देश में 25 मई से घरेलू उड़ानें दोबारा शुरू किए जाने के बाद से वे औसतन 50 से 60 प्रतिशत क्षमता के साथ ही उड़ान भर रही हैं.