नई दिल्ली: स्कूलों में गर्मी की छुट्टियां पड़ चुकी है और हो सकता है आप भी इन छुट्टियों में कहीं घूमने का प्लान बना रहे हों ऐसे में ये खबर आपके लिए बहुत जरूरी है क्योंकि घूमने के लिए आपको अपना बजट बढ़ाना पड़ेगा. अगर कोई बड़ा बदलाव नहीं हुआ तो आने वाले समय में विमान में सफर करना महंगा हो जाएगा और हवाई सफर के किराए में 15 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो सकती है. विशेषज्ञों के मुताबिक पिछले एक साल में एविएशन टर्बाइन फ्यूल यानी विमान ईंधन (एटीएफ) की कीमतों में लगभग 30 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है जिससे इस बात की संभावना है कि घरेलू विमानन कंपनियां किराया बढ़ाने पर विचार कर सकती हैं. Also Read - त्योहारी सीजन में नहीं बढ़ेंगीं टिकट की कीमतें, फिर भी महंगा होगा हवाई सफर

क्यों मंहगा होगा विमान ईंधन
विशेषज्ञों के मुताबिक, विमान को चलाने की लागत में विमान ईंधन की हिस्सेदारी 45 फीसदी होती है इसलिए विमानन कंपनियां किराया 15 फीसदी तक बढ़ाने पर विचार कर सकती हैं. विमानन कंपनियां इस मुद्दे पर खुलकर कुछ भी बोलने से बच रही हैं. हालांकि कुछ निजी विमानन कंपनियों के अधिकारियों ने कहा है कि एटीएफ की बढ़ती कीमतों से किस तरह निपटा जाए इसपर फिलहाल कोई फैसला नहीं लिया गया है लेकिन हालात के मद्देनजर किराए में बढ़ोतरी जरूरी लगती है. Also Read - वायुसेना को भेजा जा रहा ATF यमुना एक्सप्रेस-वे पर बेच रहे थे, 8 गिरफ्तार, चार टैंकर जब्त

30 फीसदी महंगा हुआ ईंधन
विमान ईंधन में पिछले एक साल में 30 फीसदी तक की बढ़ोतरी हुई है और जिसमें से पिछले छह महीने में ही 25 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है. एक प्राइवेट एयरलाइन के अधिकारी के मुताबिक, पिछले साल नवंबर से अबतक विमन ईंधन में 25 फीसदी तक की बढ़ोतरी हो चुकी है, इससे जाहिर तौर पर हवाई सफर का किराया भी बढ़ाना ही पड़ेगा. विमान चलाने में हो रहे खर्च को पूरा करने के लिए किराया बढ़ाना जरूरी है. Also Read - जमीन से आसमान तक हर तरह का ईंधन हुआ महंगा, रसोई गैस, CNG के साथ-साथ विमानों के ईंधन ATF के दाम भी बढ़े