नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले पर शनिवार को सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने से पहले देशवासियों से शांति बनाए रखने की अपील की. उच्चतम न्यायालय राजनीतिक रूप से इस संवेदनशील मामले पर शनिवार सुबह साढ़े दस बजे अपना बहुप्रतीक्षित फैसला सुनाएगा. फैसले से पहले देश भर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली में फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ के पांचों न्यायधीशों के आवास के बाहर शुक्रवार से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. इस बेहद संवेदनशील मामले में फैसला आज सुबह साढ़े दस बजे सुनाया जाएगा.

नितिन गडकरी ने अयोध्या मामले में फैसला आने से पहले मीडिया से बात करते हुए कहा, ‘हमें अपनी न्याय व्यवस्था पर पूरा भरोसा है. हमारी सभी देशवासियों से अपील है कि सभी सुप्रीम कोर्ट के फैसले को स्वीकार करें और शांति व्यवस्था बनाए रखें.’

इसके साथ ही शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट किया कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सब की यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे.