नई दिल्ली/अयोध्याः राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में शनिवार सुबह उच्चतम न्यायालय का फैसला आने से पहले देश भर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए हैं. दिल्ली में फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ के पांचों न्यायाधीशों के आवास के बाहर शुक्रवार से सुरक्षा कड़ी कर दी गई है. दिल्ली पुलिस के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. इस संवेदनशील मामले में फैसला शनिवार सुबह साढ़े दस बजे सुनाया जाएगा.

यूपी में सोशल मीडिया सहित चप्पे-चप्पे पर नजर
अधिकारियों ने कहा है कि फर्जी या भड़काऊ सामग्री से माहौल को बिगाड़ने की कोशिशों को रोकने के लिए सोशल मीडिया पर किये जाने वाले पोस्ट पर भी नजर रखी जाएगी. उन्होंने कहा कि धार्मिक स्थानों की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए सभी जरूरी

इंतजाम किए गए है. प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई ने शुक्रवार सुबह उत्तर प्रदेश के मुख्य सचिव राजेंद्र कुमार तिवारी और पुलिस महानिदेशक ओम प्रकाश सिंह के साथ एक घंटे बैठक की. इस संवेदनशील फैसले से पहले उत्तर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे भारत में  सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए हैं.

– प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई की अध्यक्षता वाली संविधान पीठ शनिवार सुबह साढ़े दस बजे इस मामले में फैसला सुनाएगी

-मुस्लिम धर्मगुरुओं ने समाज के सभी वर्गों से इस फैसले का सम्मान करने और शांति बनाए रखने की अपील की है.

– नौ नवंबर से 11 नवंबर तक प्रदेश के सभी स्कूल कॉलेजों और शैक्षणिक संस्थानों को बंद रखने की घोषणा

-छावनी में तब्दील हुई अयोध्या नगरी, सीसीटीवी कैमरे और ड्रोन से रखी जा रही है नजर

-अयोध्या में सुरक्षा के लिये 60 कंपनी पीएसी और अर्धसैनिक बल तैनात किए ग हैं.

-सुरक्षाकर्मियों में 1500 सिपाही, 250 सब इंस्पेक्टर, 150 इंस्पेक्टर, 20 डिप्टी एसपी, 11 एडिशनल एसपी तथा दो एसपी दूसरे शहरों से भी बुला कर तैनात किए गए हैं.

-नोएडा पुलिस ने मिश्रित आबादी वाले क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया.

पूरे देश में सुरक्षा के कड़े इंतजाम
दिल्ली सरकार ने एहतियाती कदम उठाते हुए शनिवार को शहर के सारे निजी स्कूलों को बंद रखने की सलाह दी है. उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने यह जानकारी दी वहीं, अधिकारियों ने बताया कि दिल्ली पुलिस ने राष्ट्रीय राजधानी में सुरक्षा बड़ा दी है और शहर के संवेदनशील इलाके में गश्त बढ़ा दी है.

इसके अलावा सोशल मीडिया मंच पर भी नजर रखी जा रही है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि शांति व्यवस्था को प्रभावित करने वाली किसी भी गतिविधि में संलिप्त पाये जाने वालों के खिलाफ दिल्ली पुलिस सख्त कानूनी कार्रवाई करेगी.

-उत्तर प्रदेश के गौतमबुद्ध नगर प्रशासन ने कहा कि हिंसा या घृणा फैलाने वाले सोशल मीडिया पोस्ट और व्हाट्सएप मैसेज करने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

-भड़काऊ पोस्ट डालने वालों के खिलाफ गैंगेस्टर व रासुका के तहत कार्रवाई की जाएगी.

-केंद्र शासित क्षेत्र जम्मू कश्मीर में धारा 144 के तहत निषेधाज्ञा जारी की गई है. इसके तहत चार से अधिक लोग एक स्थान पर इकट्ठे नहीं हो सकते. नौ नवंबर को होने वाली सभी परीक्षाओं को स्थगित कर दिया गया है.

-अयोध्या फैसले के मद्दे नजर झारखंड में अलर्ट जारी किया गया है. राज्य सरकार के प्रवक्ता ने एक विज्ञप्ति जारी करके सूचना दी.

-महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने कहा कि न्यायालय के इस फैसले का सम्मान करें और शांति बनाए रखें.

-मुंबई और महाराष्ट्र के शेष हिस्सों में भी अतिरिक्त पुलिस बल तैनात किए गए हैं.

-राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने शुक्रवार को वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों को राज्य में कानून व्यवस्था सुनिश्चित रखने का निर्देश दिया.

मध्य प्रदेश सरकार ने शनिवार को राज्य के सभी शिक्षण संस्थानों को बंद करने की घोषणा की है. प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ ने सभी वर्ग के लोगों से अपील की है कि फैसला जो भी आये, सभी मिल जुलकर उसका सम्मान व आदर करें.

कर्नाटक सरकार ने शुक्रवार को घोषणा की कि अयोध्या भूमि विवाद मामले में उच्चतम न्यायालय के फैसले के मद्देनजर राज्य के सभी स्कूल और कॉलेज नौ नवंबर को बंद रहेंगे. केरल के मुख्यमंत्री पिनराई विजयन ने सभी नागरिकों से संयम रखने की अपील की.