Live Updates

  • 12:21 PM IST

    ayodhyaverdict पर कांग्रेस के रणदीप सुरजेवाला: सुप्रीम कोर्ट का फैसला आ चुका है, हम राम मंदिर के निर्माण के पक्ष में हैं. इस फैसले ने न केवल मंदिर के निर्माण के लिए दरवाजे खोले बल्कि इस मुद्दे का राजनीतिकरण करने के लिए भाजपा और अन्य लोगों के लिए दरवाजे भी बंद कर दिए.

  • 12:00 PM IST

    ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जफरयाब जिलानी बोले: सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सम्मान, लेकिन हम संतुष्ट नहीं.

  • 11:52 AM IST

    AyodhyaJudgment पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह: यह एक ऐतिहासिक फैसला है. जनता से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं.

  • 11:51 AM IST

    निर्मोही अखाड़ा के प्रवक्ता कार्तिक चोपड़ा बोले: निर्मोही अखाड़ा आभारी है कि SC ने पिछले 150 वर्षों की हमारी लड़ाई को मान्यता दी है और केंद्र सरकार द्वारा श्री राम जन्मस्थान मंदिर के निर्माण और प्रबंधन के लिए निर्मोही अखाड़े को पर्याप्त प्रतिनिधित्व दिया है.

  • 11:51 AM IST

    अयोध्या मामले में वादियों में से एक इकबाल अंसारी बोले: मुझे खुशी है कि सुप्रीम कोर्ट ने आखिरकार फैसला सुनाया, मैं अदालत के फैसले का सम्मान करता हूं.

  • 11:48 AM IST

    ayodhyaverdict पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार: सुप्रीम कोर्ट के फैसले का सभी को स्वागत करना चाहिए, यह सामाजिक समरसता के लिए फायदेमंद होगा. इस मुद्दे पर कोई और विवाद नहीं होना चाहिए, यही मेरी लोगों से अपील है.

  • 11:34 AM IST

    सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर शनिवार को अपने फैसले में कहा कि केंद्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार मंदिर, मस्जिद निर्माण की निगरानी करेंगे.

  • 11:23 AM IST

    बता दें कि अयोध्या विवाद पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला सर्वसम्मति यानी 5-0 से आया है.

  • 11:21 AM IST

    पांचों जजों ने कहा कि विवादित जमीन हिन्दुओं को सौंपा जाएगा. केंद्र सरकार एक ट्रस्ट बनाएगी जो मंदिर का निर्माण कराएगी. यह जमीन अभी केंद्र सरकार के पास रहेगी और बाद में ट्रस्ट को दी जाएगी.

  • 11:18 AM IST

    सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि 3-4 महीने के भीतर सेंट्रल गवर्नमेंट ट्रस्ट की स्थापना के लिए योजना तैयार करे और विवादित स्थल को मंदिर के निर्माण के लिए सौंप दे और अयोध्या में 5 एकड़ जमीन का एक उपयुक्त वैकल्पिक भूखंड सुन्नी को दिया जाए.

Ayodhya Verdict Live Updates: राम जन्म भूमि-बाबरी मस्जिद विवाद मामले में आज उच्चतम न्यायालय ने ऐतिहासिक फैसला सुनाया. फैसले से पहले देश भर में सुरक्षा के सख्त इंतजाम किए गए. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और विभिन्न धर्म गुरुओं ने लोगों से शांति बनाए रखने तथा न्यायालय के फैसले का सम्मान करने की अपील की. दिल्ली में फैसला सुनाने वाली संविधान पीठ के पांचों न्यायाधीशों के आवास के बाहर शुक्रवार से सुरक्षा कड़ी कर दी गई थी.