नयी दिल्ली: केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री हर्षवर्धन ने दिल्ली, ओडिशा, तेलंगाना और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों को पत्र लिखकर उनसे केंद्र की महत्वाकांक्षी स्वास्थ्य बीमा योजना ‘आयुष्मान भारत-प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना’ में शामिल होने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि इस सहयोग से देश के कमजोर और गरीब लोगों को फायदा होगा. Also Read - Kisan Andolan Latest Update: ‘दिल्ली चलो’ प्रदर्शन में शामिल होने के लिए पंजाब से निकले और किसान, 50,000 से ज्यादा बताई जा रही संख्या

  Also Read - Delhi Air Pollution Latest Updates: तेज हवाओं, पराली के कम जलने से दिल्ली की हवा हुई साफ, जानिए क्या रहा AQI

स्वास्थ्य मंत्रालय के एक बयान के अनुसार हर्षवर्धन ने दिल्ली, ओडिशा और पश्चिम बंगाल के मुख्यमंत्रियों क्रमश: अरविंद केजरीवाल, नवीन पटनायक और ममता बनर्जी से बातचीत भी की. इसके साथ ही वह तेलंगाना के मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव से संपर्क करने का प्रयास कर रहे हैं. मुख्यमंत्रियों को भेजे अपने पत्र में उन्होंने कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि आयुष्मान भारत जैसी दूरदर्शी योजना का लाभ देश के सभी वंचित और कमजोर लोगों तक पहुंचे. उन्होंने कहा कि मैं बाकी राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेश को इस योजना का लाभ उनके लोगों तक पहुँचाने के लिए सभी प्रयास करूँगा और यह सुनिश्चित करूंगा कि कोई भी पात्र व्यक्ति इन लाभों से वंचित नहीं रहे.

उन्होंने कहा कि पारदर्शी प्रक्रियाओं, गरीब आबादी के एक बड़े हिस्से को लाभ आदि के कारण 32 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों ने इस योजना को स्वीकार किया. हर्षवर्धन ने यह स्पष्ट किया कि सहकारी संघवाद की भावना से पर्याप्त लचीलेपन के साथ राज्यों को वित्तीय संसाधन उपलब्ध कराए जाएंगे.