Bandipora Encounter: जम्मू- कश्मीर के बांदीपोरा स्थित वाटनिरा इलाके में आज सुबह से ही सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है, जानकारी के मुताबिक इस मुठभेड़ में सुरक्षाबलों ने दो आतंकियों, दिवंगत भाजपा नेता वसीम बारी के हत्यारों को मार गिराया है. ताजा जानकारी के मुताबिक जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना की 14 राष्ट्रीय राइफल के जवान संयुक्त रूप से मुठभेड़ में शामिल हैं और आतंकियों की फायरिंग का मुंहतोड़ जवाब दे रहे हैं.Also Read - Jammu and Kashmir: आतंकवादियों और उनके हमदर्दों से चुन-चुनकर बदला लेंगे: उपराज्यपाल मनोज सिन्हा

भाजपा नेता वसीम बारी की हत्या में शामिल आतंकी मारा गया Also Read - सैयद अली गिलानी ने अपने पोते को कैसे दिलाई थी सरकारी नौकरी? महबूबा सरकार के साथ किया था सौदा!

आईजीपी कश्मीर, विजय कुमार ने जानकारी दी है कि आतंकियों के साथ जारी मुठभेड़ में दो आतंकियों को ढेर कर दिया गया है. दोनों की पहचान कर ली गई है. इनमें से एक स्थानीय रूप से प्रशिक्षित और 1 पाकिस्तान में प्रशिक्षित था और भाजपा नेता दिवंगत वसीम बारी की हत्या में एक शामिल था. आतंकियों के ठिकानों पर तलाशी अभियान जारी है और मारे गए आतंकियों के पास से हथियार और गोला-बारूद सहित कई आपत्तिजनक सामग्रियां बरामद हुई हैं. Also Read - J&K: आतंकवादी गतिविधियों का समर्थन करना पड़ा भारी, गिलानी के पोते को सरकारी नौकरी से किया गया बर्खास्त

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने इंटरनेट मीडिया पर मुठभेड़ की जानकारी साझा करते हुए बताया कि आज  आतंकियों की धरपकड़ के लिए बांदीपोरा में तलाशी अभियान शुरू किया गया था जिसमें से एक ठिकाने पर छिपे आतंकियों ने तलाशी अभियान में शामिल पुलिस और सुरक्षाबलों पर फायरिंग करना शुरू कर दिया. आतंकियों की फायरिंग के जवाब में सुरक्षाबलों ने भी आतंकियों पर फायरिंग की. फिलहाल सुरक्षाबलों और आतंकियों के बीच मुठभेड़ जारी है.

जानकारी के मुताबिक सुरक्षाबलों ने आतंकियों को चारों ओर से घेर लिया है. छिपे आतंकियों को आत्मसमर्पण करने के लिए कहा गया, लेकिन आतंकियों ने इसे अनसुना कर सुरक्षाबलों पर फायरिंग शुरू कर दी. सुरक्षाबलों ने आतंकियों के साथ मुठभेड़ के बीच आसपास के क्षेत्र को पूरी तरह से खाली करवा दिया है.

बता दें कि उत्तरी कश्मीर के उड़ी सेक्टर में शनिवार को एलओसी के समीप सेना के जवानों और आतंकियों के बीच जारी मुठभेड़ में भी अब तक दो आतंकियों को मार गिराने में सफलता मिली है. चूंकि यह क्षेत्र एलओसी से बिल्कुल सटा हुआ है इसलिए अभी तक आतंकियों के शव बरामद नहीं हो पाए हैं,  मुठभेड़ जारी है. जानकारी के मुताबिक इस मुठभेड़ में तीन सैन्यकर्मी भी घायल हुए हैं. उनका इलाज चल रहा है. अभी तक इस क्षेत्र में तीन मुठभेड़ें हो चुकी हैं.