186066-bangalore490केंद्रीय गृह राज्य मंत्री किरन रिजिजू ने सोमवार को कहा कि बेंगलुरू में रविवार को हुआ कम तीव्रता का विस्फोट ‘आतंकवादी हमला’ था और इसमें प्रतिबंधित संगठन ‘सिमी’ का हाथ हो सकता है। रिजिजू ने यहां संवाददाताओं से कहा, “निश्चित रूप से यह आतंकवादी हमला है।” Also Read - सुशांत सिंह राजपूत केस में अब एक चिट्ठी ने मचाई खलबली, BJP विधायक नितेश राणे ने किए चौंकाने वाले दावे

इस हमले में एक महिला की मौत हो गई थी और तीन अन्य घायल हो गए थे। Also Read - महाराष्‍ट्र के गृह मंत्री पर कंगना का पलटवार, ''एक ही दिन में यह POK से तालिबान बन गया''

क्या हमले के पीछ स्टूडेंट्स इस्लामिक मूवमेंट ऑफ इंडिया (सिमी) का हाथ है? यह पूछे जाने पर रिजिजू ने कहा, “हमें देखना होगा कि घटना के तार कहां से जुड़े हैं। यदि यह वही मॉड्यूल है, जो यहां काम कर रहा है तो इसकी संभावना है। लेकिन जब तक इस दिशा में हम आश्वस्त नहीं हो जाते, हम किसी प्रकार का बयान नहीं दे सकते। लेकिन इसकी आशंका है।” Also Read - कंगना रनौत को मुंबई या महाराष्ट्र में रहने का कोई अधिकार नहीं है: गृह मंत्री अनिल देशमुख

रिजिजू ने कहा, “हमने अपनी सुरक्षा व्यवस्था में सुधार किया है, हम और चौकस हुए हैं। इसलिए, हमें यह देखना होगा कि हमारी तैयारी और अभियान को लेकर हमारा मानक और खुफिया नेटवर्क, सभी बढ़ाने की जरूरत है।”

यह पूछे जाने पर कि क्या अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारतीय दौरे को देखते हुए ऐसे हमले का पूर्वानुमान था, रिजिजू ने कहा, “ऐसार कोई अनुमान नहीं था। कोई भी इस तरह की घटना की कल्पना नहीं करता, लेकिन जब यह होता है, तो यह चिंता का विषय है।”

इस बीच, गृह मंत्री राजनाथ सिंह ने अपने कार्यालय में वरिष्ठ अधिकारियों की बैठक बुलाई।

गृह मंत्रालय के एक अधिकारी ने आईएएनएस को बताया कि राजनाथ सुरक्षा प्रबंधों का जायजा लेंगे और बेंगलुरू विस्फोट के बाद के हालात पर चर्चा करेंगे।

अधिकारी ने बताया, “बैठक के दौरान वह राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) को यह मामला सौंपने की संभावना पर भी विचार करेंगे।”

उन्होंने बताया कि एनआईए के दो अधिकारी बेंगलुरू पहुंच चुके हैं।